About Me

header ads

सेंट्रल बैंक का मैनेजर 30 हजार रुपये घूस लेते गिरफ्तार, दलाल भी पकड़ाया


घूसखाेरी में शुक्रवार को सेंट्रल बैंक के मैनेजर को सीबीआई की टीम ने गिरफ्तार किया है. गिरफ्तारी के लिए सीबीआई की टीम पटना से गयी हुई थी. सात सदस्यीय टीम ने सेंट्रल बैंक वीरपुर के मैनेजर ओमप्रकाश एवं दलाल पवन कुमार को ऋण देने के बदले 30 हजार रुपये रिश्वत लेते हुए रंगेहाथ गिरफ्तार कर लिया। टीम दोनों को पटना ला रही है. 

वीरपुर निवासी दीनानाथ सिंह ने सेंट्रल बैंक की वीरपुर शाखा से 30 लाख के ऋण के लिए मैनेजर से तीन माह पहले बात की थी. इसमें प्रबंधक के दलाल पवन कुमार ने अहम भूमिका निभाते हुए सारी प्रक्रिया पूरी करवाने के एवज में एक लाख 90 हजार रुपये आवेदक से खर्च कराए. उसके बाद कमीशन की राशि भी तय कर ली गई. सारी प्रक्रिया पूरी होने के बाद तीन लाख रुपये की मांग शाखा प्रबंधक और दलाल द्वारा की जा रही थी.

इस बात पर अनबन होने पर शाखा प्रबंधक द्वारा ऋण की राशि घटाकर छह लाख कर दी गई और शुक्रवार को आवेदक द्वारा 30 हजार नकद देने की बात तय की गई थी. आवेदक एक माह से सीबीआइ के संपर्क में था. 30 लाख के बदले छह लाख की राशि स्वीकृत किए जाने के बाद एक लाख 90 हजार खर्च होने पर दीनानाथ सिंह ने इसकी शिकायत सीबीआइ, पटना से की थी.

शुक्रवार को सीबीआइ की सात सदस्यीय टीम पटना से वीरपुर पहुंची. निर्धारित योजना के तहत शिकायतकर्ता, दलाल और प्रबंधक सभी एक साथ बैठे थे. दीनानाथ सिंह ने 30 हजार रुपये दलाल पवन को दिए. तत्क्षण पवन ने उक्त राशि शाखा प्रबंधक को दे दी. इसी समय सीबीआइ की टीम ने शाखा प्रबंधक और दलाल को 30 हजार रुपये रिश्वत लेते रंगेहाथ धर दबोचा. टीम ने एक स्थानीय होटल में लाकर दोनों से आवश्यक पूछताछ की. टीम में शामिल सीबीआइ अधिकारी ने बताया कि इन दोनों को कागजी कार्रवाई के उपरांत पटना ले जाया जाएगा.