About Me

header ads

लालू यादव की तबीयत बिगड़ी, किडनी महज 37% ही कर रही काम


बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राष्ट्रीय जनता दल(RJD) के अध्यक्ष लालू यादव के गुर्दे (किडनी) को काफी नुकसान पहुंचा है. लालू चारा घोटाला मामले में दोषी ठहराए जाने के बाद जेल की सजा काट रहे हैं और फिलहाल रांची के एक अस्पताल में भर्ती हैं.

राजेंद्र इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस (रिम्स) में लालू का इलाज कर रहे डॉ. पी. के. झा ने बताया, "लालू यादव की किडनी केवल 37 फीसदी काम कर रही है. उनकी किडनी को 63 फीसदी तक नुकसान पहुंचा है. पिछले एक सप्ताह से उनकी स्थिति अस्थिर है."

राष्ट्रीय जनता दल के प्रमुख लालू यादव के लिए दिक्कतें कम होने का नाम नहीं ले रहीं. बीते एक साल से वो कानूनी मोर्चे के साथ-साथ स्वास्थ्य से जुड़ी परेशानियों से भी जूझ रहे हैं. चारा घोटाले से जुड़े केस में दोषी ठहराए जाने के बाद से लालू यादव के लिए संकट का दौर चल रहा है. लालू को रांची के राजेंद्र इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज़ (RIMS) अस्पताल के प्राइवेट वार्ड में भर्ती हुए एक साल से ज्यादा हो गया है. लालू को बीते साल 30 अगस्त को RIMS में भर्ती कराया गया था.

अस्पताल में लालू के स्वास्थ्य पर नजर रखने वाले डॉक्टर एके झा ने बताया था कि एक साल में उनके शरीर पर फफोलों (Boil-Abscess) को हटाने के लिए 7 बार ऑपरेशन किया जा चुका है. बीते रविवार से वो पीठ के नीचे फिर फफोला उभर आने से दर्द से परेशान थे. वो बिस्तर पर ठीक से लेट भी नहीं पा रहे थे. इसके बाद डॉक्टरों ने फफोले को हटाने के लिए माइनर सर्जरी का फैसला किया. बुधवार शाम को डॉक्टर संदीप कुमार ने ये सर्जरी की.