About Me

header ads

ममता बनर्जी ने लिखी पीएम मोदी को चिट्ठी, बोलीं- चुनाव लड़ने के लिए सरकार से मिले मदद


पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भ्रष्टाचार और अपराध को रोकने के लिए चुनावी सुधार के बारे में लिखा है। पत्र में कहा गया है चुनावों के सरकारी वित्तपोषण के लिए समय आ गया है, जो 65 देशों में आदर्श है।

चुनावी प्रक्रिया में सुधार को ममता ने पीएम मोदी को लिखा पत्र
बंगाल की मुख्यमंत्री व तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर पिछले लोकसभा चुनाव में बेतहाशा चुनावी खर्च पर चिंता जताई है। पत्र में उन्होंने कहा है कि भारत में स्वतंत्र, पारदर्शी और निष्पक्ष चुनाव के लिए तत्काल चुनावी प्रक्रिया में सुधार की जरूरत है। उन्होंने इसे लेकर प्रधानमंत्री को सर्वदलीय बैठक बुलाने की भी सलाह दी है। राजनीतिक दलों में बढ़ते भ्रष्टाचार और आपराधिकरण की प्रवृत्तियों की ओर भी पीएम का ध्यान आकृष्ट किया है।

अपने पत्र में ममता ने 2019 के लोकसभा चुनाव के दौरान चुनावी खर्च को लेकर जारी एक रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा कि यह दुनिया का सबसे खर्चीला चुनाव था। 2019 में हुआ चुनावी खर्च 2014 के लोकसभा चुनाव के दौरान हुए कुल खर्च का दोगुना है। रिपोर्ट के हवाले से ममता ने बताया कि हालिया चुनाव में कम से कम 60 हजार करोड़ रुपये खर्च किए गए थे। इस खर्च की ऊपरी सीमा अभी भी अज्ञात है और यह और भी ज्यादा हो सकती है।

तृणमूल अध्यक्ष ने चुनाव में व्याप्त भ्रष्टाचार पर चिंता जताते हुए पीएम नरेंद्र मोदी से चुनावी पब्लिक फंडिंग के मुद्दे पर सर्वदलीय बैठक बुलाने की अपील की। उन्होंने आगे कहा कि यह बैठक भारत में निष्पक्ष, स्वतंत्र और पारदर्शी चुनाव के लिए भ्रष्टाचार को जड़ से उखाड़ फेंकने के उद्देश्यों को ध्यान में रखते हुए बुलाई जाए। अंत में ममता ने इस बात पर जोर दिया कि हमें तत्काल चुनाव प्रक्रिया में सुधार की जरूरत है, जिसमें चुनाव के लिए सरकारी फंडिंग की व्यवस्था शामिल है।