बिकवाली दबाव से सेंसेक्स 448 अंक टूटा, 9 महीने की सबसे बड़ी गिरावट



मुंबई। उत्तर कोरिया को लेकर भू राजनैतिक तनाव बढ़ने से सप्ताह के अंतिम दिन शेयर बाजार जोरदार गिरावट के साथ बंद हुए। बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स आज 447 अंक टूट गया। यह नौ महीने में इसकी सबसे बड़ी गिरावट है। वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 10,000 अंक से नीचे आ गया। कारोबार के दौरान आज डॉलर के मुकाबले रुपया करीब छह महीने के निचले स्तर पर आ गया। इससे कारोबारी धारणा और प्रभावित हुई।

कारोबार के दौरान रुपया 65.15 रुपये प्रति डॉलर पर आ गया, जो इसका 5 अप्रैल के बाद का निचला स्तर है। राजकोषीय घाटा बढ़ने की अटकलों तथा विदेशी कोषों की निकासी से रुपये में गिरावट आई। बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स आज पूरे दिन नकारात्मक दायरे में रहा। यह एक समय 31,886.09 अंक के निचले स्तर तक आया। अंत में सेंसेक्स 447.60 अंक या 1.38 प्रतिशत के नुकसान से 31,922.44 अंक पर बंद हुआ। यह पिछले साल 15 नवंबर के बाद एक दिन की सबसे बड़ी गिरावट है। 11 सितंबर के बाद यह सेंसेक्स का सबसे निचला बंद स्तर है। उस दिन सेंसेक्स 31,882.16 अंक पर बंद हुआ था।

नेशनल स्टाक एक्सचेंज का निफ्टी भी बिकवाली दबाव में रहा और यह 10,000 अंक से नीचे आ गया। निफ्टी ने एक समय 9,952.80 अंक का निचला स्तर भी छुआ। अंत में यह 157.50 अंक या 1.56 प्रतिशत के नुकसान से 9,964.40 अंक पर बंद हुआ। साप्ताहिक आधार पर सेंसेक्स में 350.17 अंक या 1.08 प्रतिशत का नुकसान दर्ज हुआ है। वहीं साप्ताहिक आधार पर निफ्टी 121 अंक या 1.19 प्रतिशत टूटा है।