Sunday, November 1, 2015

भारत दुनिया का सातवां सबसे मूल्यवान राष्ट्र ब्रांड


भारत एक पायदान चढ़कर दुनिया का सातवां सबसे मूल्यवान राष्ट्र ब्रांड बन गया। भारत का ब्रांड मूल्य 32 प्रतिशत बढ़कर 2.1 अरब डॉलर पर पहुंच गया है। अमेरिका 19.7 अरब डॉलर के मूल्यांकन के साथ शीर्ष पर बना हुआ है। चीन दूसरे और जर्मनी तीसरे स्थान पर रहा है। ब्रांड फाइनेंस द्वारा जुटाई गई दुनिया की सबसे मूल्यवान राष्ट्र ब्रांड पर सालाना रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई है।

सूची में ब्रिटेन चौथे, जापान पांचवें और फ्रांस छठे स्थान पर है। इस सूची में फ्रांस और भारत की स्थिति पिछले साल की तुलना में एक पायदान सुधरी है। वहीं पिछले साल शीर्ष पांच स्थानों पर रहने वाले पांचों देश एक बार फिर उन्हीं स्थानों पर कायम हैं। खास बात यह है कि सूची के शीर्ष 20 देशों में भारत के ब्रांड मूल्य में सबसे अधिक 32 प्रतिशत का इजाफा हुआ है।

चीन का ब्रांड मूल्य हालांकि एक प्रतिशत घटकर 6.3 अरब डॉलर रह गया है, लेकिन वह दूसरे स्थान पर कायम है। रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत के अतुल्य भारत नारे ने अच्छा प्रभाव छोड़ा है, वहीं जर्मनी को फॉक्सवैगन संकट की वजह से नुकसान उठाना पड़ा है।