Wednesday, March 11, 2015

जातीय कार्ड खेल रही है भाजपा : नीतीश

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बुधवार को कहा कि भाजपा जातीय कार्ड खेल रही है। इसलिए हमने उन्हें सलाह दी है कि जयश्रीराम की जगह जय जीतनराम का नारा लगायें। भाजपा की मंशा जाति के आधार पर समाज को बांटने की है। मैंने भाजपा को आईना दिखा दिया है। कुछ लोग भाजपा के चक्कर में संवैधानिक प्रावधानों की धज्जियां उड़ा रहे थे। पर दल के आधार पर हुई वोटिंग में उन्हें भी विश्वासमत के पक्ष में वोट करना पड़ा। मैं उन्हें धन्यवाद देता हूं। जो दल के टिकट पर जीतकर आते हैं उन्हें दल के बंधन में रहना ही पड़ता है। वह  विश्वासमत हासिल करने के बाद विधानसभा परिसर में संवाददाताओं से बातचीत कर रहे थे।
मुख्यमंत्री ने कहा कि विश्वासमत के दौरान भाजपा के लोगों ने जिस तरह हाथ से लिखे कुछ पोस्टर को सदन में प्रदर्शित किया उससे यह साबित हो रहा था कि वह समाज को जाति के आधार पर बांटने की मंशा के साथ हैं। पर इसमें भी भाजपा को सफलता नहीं मिलेगी। भाजपा को तो हमें धन्यवाद देना चाहिए, क्योंकि मांझी सरकार को लेकर हमारी आलोचना करते थे। हमारे दल ने संवेदनशीलता दिखाई। उन्होंने कहा कि विश्वासमत हासिल किए जाने की सूचना राज्यपाल को भेज दी गई है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा ने बिहार में अस्थिरता का माहौल पैदा कर भ्रम फैलाया। विश्वासमत के बाद भाजपा एक्सपोज हो गयी और भ्रम का बादल छंट गया है। उन्होंने कहा कि एक मुख्यमंत्री के रूप में उन्होंने जो भी फैसला लिया है वह पूरी तरह से सोच समझ कर लिया।