बिहार दिवस आयोजन के दूसरे दिन हुए विभिन्न प्रकार के आयोजन, बड़ी संख्या में दर्शकों की भीड़ लगी रही

पटना: बिहार दिवस आयोजन के दूसरे दिन आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के पेवेलियन में आपदा प्रबंधन पर आधारित विभिन्न प्रकार के आयोजन हुए। विभिन्न नाट्य संस्थाओं के द्वारा कुल 16 नुक्कड़ नाटकों के माध्यम से कलाकारों ने भूकंप, अगलगी, बाढ़, शीतलहर समेत अन्य आपदाओं से बचाव की जानकारी दिया। नुक्कड़ नाटकों के लगातार आयोजन से प्राधिकरण के मुख्य मंच के पास बड़ी संख्या में दर्शकों की भीड़ लगी रही। जहां जेंडर ईक्विटी कमिटी द्वारा लड़कियों केलिए  स्वास्थ्य पर आधारित व युगांतर द्वारा प्रकाशित बुकलेट का वितरण किया गया। प्राधिकरण के पेवेलियन के सभी 36 स्टालों पर आपदा से बचाव संबंधी जानकारी के लिए उपयोगी बुकलेट, वीडियो डिस्प्ले समेत अन्य जानकारी पूरे दिन दिया गया। 


 मूक बधिर बच्चों ने मूक अभिनय से दिया आपदा से बचाव की मनमोहक संदेश


प्राधिकरण के मुख्य मंच पर छह बजे संध्या जब मूक बधिर बच्चों ने आपदा से बचाव की मूक संदेश दिया तो लोगों को  आश्चर्य का ठिकाना नहीं रह। नहीं सुनने और बोलने बाले ये लड़के और लड़कियों ने अगलगी, भूकंप और बाढ़ से बचाव की जानकारी दी। श्रीमती नवनीत शर्मा निर्देशित इस नाटक के मंचन में लोगों को प्रभावकारी तरीके से संदेश प्रेषित करने में नाटक मंडली सफल दिखे।

इसके पूर्व आपसदारी,प्रेरणा, निर्माण कला मंच, सर्वमंगला, एसडीआरएफ आदि संस्थाओं द्वारा भी नाटक के माध्यम से आपदा नहीं हो भारी यदि पूरी हो तैयारी का संदेश दिया।


बिहार विश्वविद्यालय सेवा आयोग के अध्यक्ष राज वर्द्धन आजाद ने किया प्राधिकरण पेवेलियन का भ्रमण


बिहार दिवस  आयोजन के दूसरे दिन राज्य विश्वविद्यालय सेवा आयोग के अध्यक्ष डॉ राज वर्द्धन आजाद ने प्राधिकरण के पेवेलियन का भ्रमण किया। इस दौरान डॉ आजाद ने पेवेलियन के विभिन्न स्टालों पर जाकर आपदा प्रबंधन के लिए चलाए जा रहे जागरुकता कार्यकर्मों की जानकारी ली। इस दौरान प्राधिकारण के मा. उपाध्यक्ष डॉ उदय कांत मिश्र साथ में थे।