वार्ड सचिवों पर बर्बर पुलिस लाठी चार्ज नीतीश-भाजपा सरकार का गैर लोकतांत्रिक आचरण –ऐक्टू

ऑल इंडिया सेंट्रल कॉउंसिल ऑफ ट्रेड यूनियन्स ( ऐक्टू) राज्य महासचिव आरएन ठाकुर व राज्य सचिव रणविजय कुमार ने मानदेय में वृद्धि सहित अपनी नाययपूर्ण मांगों के लिए आंदोलन के 14 वें दिन  भाजपा राज्य कार्यालय के समक्ष धरना दे रहे , महिला -बच्चों व पुरुष वार्ड सचिवों पर भाजपा के प्रत्यक्ष निर्देशन में नीतीश सरकार द्वारा बर्बर पुलिसिया दमन,अश्रु गैस के गोले व पानी का बौछार किये जाने की घोर निंदा की है । 


ऐक्टू नेताओं ने इस घटना के लिए भाजपा को सीधे तौर पर जिम्मेदार ठहराते हुए वार्ड सचिवों पर पुलिसिया दमन कराए जाने के लिए भाजपा से बिहार की जनता व वार्ड सचिवों से माफी मांगने और वार्ड सचिवों के नेताओं से उनकी मांगों पर सम्मानजनक वार्ता कर मांगें पूरी करने की मांग नीतीश सरकार से किया है।


 ऐक्टू नेताओं आरएन ठाकुर, रणविजय कुमार ने कहा कि मुख्यमंत्री के ड्रीम प्रोजेक्ट *गली-नाली-नल जल योजना* को बिहार में सफल बनाने वाले वार्ड सचिवों की मांगों पर सम्मानजनक वार्ता कर मांगे पूरी करने के बजाए नीतीश-भाजपा सरकार सुसाशन के नाम पर गैर लोकतांत्रिक आचरण अपना तानाशाही राज कायम करने व लोकतांत्रिक आंदोलनों का दमन करने में लगी है साथ ही वार्ड सचिव सहित समस्त मानदेय कर्मियों से जबरन तुच्छ मानदेय पर गुलामी कराना चाहती है जिसका ऐक्टू पुरजोर विरोध करता है।


ऐक्टू नेताओं ने कहा कि उनका ट्रेड यूनियन 'ऐक्टू' वार्ड सचिवों की माँग व आंदोलन का समर्थन करता है और मुख्यमंत्री से माँग करता है कि उनकी मांग पर सकारात्मक वार्त्ता कर समाधान करने की पहल करे और पुलिसिया बर्बरता के जिम्मेदार पुलिस अधिकारियों के विरुद्ध कार्रवाई करे।