बिहार में कंपकपाती ठंड के लिए हो जाएं तैयार, 27 दिसंबर से आंशिक बारिश के आसार, आज से चलेगी पुरवइया

सूबे में अभी दक्षिणी-पश्चिमी हवा चल रही है लेकिन शनिवार से पुरवइया चलने के आसार हैं। नतीजतन राज्यभर के मौसम में बदलाव के आसार हैं। अगले दो-तीन दिनों तक रात का तापमान (न्यूनतम तापमान) दो डिग्री सेल्सियस बढ़ सकता है। साथ ही 26 दिसंबर से पटना सहित राज्य के अन्य हिस्सों में आंशिक बादल दिख सकते है।

मौसमविदों के अनुसार, 27 दिसंबर से पश्चिमी विक्षोभ के प्रभावों से 30 दिसंबर तक बारिश के आसार हैं। बादल छाने और बारिश होने पर सूबे के शहरों का अधिकतम तापमान तेजी से नीचे आएगा। मौसम विज्ञान केंद्र की ओर से अलर्ट जारी कर कहा गया है कि तीन दिनों तक सूबे में शीतलहर की स्थिति रह सकती है। 

हालांकि अधिकतम तापमान में कमी की स्थिति अगले एक हफ्ते तक बनी रहेगी। जिससे 30 के बाद भी शीतलहरी जैसा एहसास रहेगा। अभी सूबे में मौसम शुष्क और स्थिर बना हुआ है।हिमालय की तराई से सटे जिलों पश्चिमी चंपारण, पूर्वी चंपारण, मधुबनी, दरभंगा, किशनगंज, अररिया, सीतामढ़ी में रात के तापमान में दो डिग्री तक गिरावट के आसार हैं।

क्या है पश्चिमी विक्षोभ


पश्चिमी विक्षोभ की उत्पत्ति कम दबाव वाले क्षेत्र भूमध्यसागरीय क्षेत्र, यूरोप के अन्य भागों और अटलांटिक महासागर में होती है। ये अशांत हवाएं भारत में पश्चिम दिशा से प्रवेश करती हैं, इसलिए इन्हें पश्चिमी विक्षोभ कहा जाता है। ये विक्षोभ चक्रवातीय वर्षा लाते हैं जो भारत के शीतकालीन फसलों जैसे गेहूं, दलहन, तिलहन आदि के लिये लाभकारी होता है। ये विक्षोभ पश्चिमी रबी फसल में लाभकारी सहायक होते हैं।