अब मार्च 2022 तक मिलेगा बेरोजगारी भत्‍ता, Covid में नौकरी जाने पर दे रही है सरकार



कर्मचारी राज्य बीमा निगम (ईएसआईसी) ने ‘अटल बीमित व्यक्ति कल्याण योजना’ (Atal Beemit Vyakti Kalyan Yojana) का विस्तार 30 जून 2022 तक किये जाने की घोषणा की। यह उन बीमित व्यक्तियों को 3 महीने के लिए कुल वेतन का 50 प्रतिशत बेरोजगारी भत्ता देने की योजना है जो किसी भी कारण से अपनी नौकरी खो देते हैं।

इसके साथ ही कर्नाटक के हरोहोली और नरसापुर में 100 बिस्तरों वाले दो नए ईएसआईसी अस्पतालों के लिये 5 एकड़ जमीन के अधिग्रहण को मंजूरी दी गई है। केंद्रीय श्रम एवं रोजगार मंत्री भूपेन्द्र यादव ने ईएसआईसी की उत्तराखंड के ऋषिकेश में संपन्न बैठक में इस तरह की कई महत्वपूर्ण घोषणाएं की। मंत्रालय के बयान के अनुसार यादव ने कर्नाटक के हरोहोली और नरसापुर में 100 बिस्तरों वाले दो नए ईएसआईसी अस्पतालों के लिये 5 एकड़ जमीन के अधिग्रहण, केरल के लिए सात नए ईएसआईसी औषधालयों सहित अन्य प्रस्तावों को मंजूरी देने की घोषणा की।

मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के मार्गदर्शन और दिशा निर्देशों में केंद्र सरकार अंतिम व्यक्ति तक सेवाओं की तत्काल पहुंच सुनिश्चित करके सेवाओं के लक्षित वितरण के लिए प्रतिबद्ध है। बैठक के दौरान यह भी निर्णय लिया गया कि जहां कहीं भी ईएसआईसी अस्पतालों में जो सुविधाएं उपलब्ध नहीं हैं, मरीजों को उन सेवाओं का लाभ लेने के लिए पैनल में शामिल निजी अस्पतालों में भेजा जाएगा। इसके अलावा, जहां कहीं भी ईएसआई सुविधा बीमित व्यक्ति से 10 किलोमीटर से अधिक की दूरी पर है, मरीज इस स्थिति में सीधे इलाज के लिए पैनल में शामिल अस्पतालों में जा सकते हैं।

मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के मार्गदर्शन और दिशा निर्देशों में केंद्र सरकार अंतिम व्यक्ति तक सेवाओं की तत्काल पहुंच सुनिश्चित करके सेवाओं के लक्षित वितरण के लिए प्रतिबद्ध है। बैठक के दौरान यह भी निर्णय लिया गया कि जहां कहीं भी ईएसआईसी अस्पतालों में जो सुविधाएं उपलब्ध नहीं हैं, मरीजों को उन सेवाओं का लाभ लेने के लिए पैनल में शामिल निजी अस्पतालों में भेजा जाएगा। इसके अलावा, जहां कहीं भी ईएसआई सुविधा बीमित व्यक्ति से 10 किलोमीटर से अधिक की दूरी पर है, मरीज इस स्थिति में सीधे इलाज के लिए पैनल में शामिल अस्पतालों में जा सकते हैं।

उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर के लिए 30 बिस्तरों वाले एक अस्पताल को भी मंजूरी दी गयी। इसके अलावा ईएसआईसी कोविड राहत योजना के लिए दीर्घकालिक देनदारियों को प्रदान करने को लेकर अलग से एक निधि को भी मंजूरी दी गई।

यह भी निर्णय किया गया कि दिल्ली के रोहिणी में अस्थायी ढांचे से काम कर रहे ईएसआईसी डेंटल कॉलेज को ईएसआईसी अस्पताल बसई दारापुर परिसर में स्थित नये भवन में स्थानांतरित किया जाएगा।