Bengal Chunav Hinsa: बंगाल में उपचुनाव में भी हिंसा का दौर जारी, बम फेंकने के आरोप में टीएमसी नेता गिरफ्तार

बंगाल में हाई प्रोफाइल भवानीपुर समेत मुर्शिदाबाद जिले की जंगीपुर व शमशेरगंज विधानसभा सीट के लिए हो रहे चुनाव में भी सुबह से ही छिटपुट हिंसा का दौर जारी है। शमशेरगंज विधानसभा क्षेत्र में मतदान शुरू होने से पहले ही बम फेंके जाने की घटना सामने आई।इस घटना के सिलसिले में एक स्थानीय तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) नेता को गिरफ्तार किया गया है। आरोपित नेता का नाम अनारुल हक है।

मतदान शुरू होने से कुछ देर पहले अनारुल पर लोगों में डर पैदा करने के लिए बम फेंके जाने का आरोप है। इसी तरह शमशेरगंज के घनश्यामपुर में तृणमूल कार्यकर्ता जियाउर रहमान के घर पर हथियारों के साथ हमले का कांग्रेस पर आरोप लगा है। पीड़ित ने कांग्रेस प्रत्याशी जईदुर रहमान के खिलाफ थाने में एफआइआर दर्ज कराई है। इसके साथ ही शमशेरगंज सीट के तृणमूल कांग्रेस के प्रत्याशी अमीरूल इस्लाम पर मतदाताओं को प्रभावित करने का आरोप लगा है। चुनाव आयोग ने इस मामले में रिपोर्ट तलब की है।

गौरतलब है कि मुर्शिदाबाद जिला पहले से संवेदनशील रहा है। वहीं, बंगाल में चुनावी हिंसा का लंबा इतिहास रहा है। पिछले विधानसभा चुनाव के दौरान भी काफी खून-खराबा हुआ था। चुनाव बाद भी हिंसा का दौर जारी रहा था। तीनों सीटों पर शांतिपूर्ण, निष्पक्ष व अबाध तरीके से मतदान कराना चुनाव आयोग के लिए बेहद कड़ी चुनौती है।वैसे पूर्व में हिंसा को देखते हुए चुनाव आयोग ने सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए हैं। बावजूद इसके छिटपुट हिंसा जारी है।

भाजपा ने तृणमूल पर अपने पोलिंग एजेंट को धमकाकर बूथ से हटाने का लगाया आरोप

भवानीपुर विधानसभा सीट के लिए हो रहे उपचुनाव में प्रदेश भाजपा ने सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस पर दो बूथों से अपने पोलिंग एजेंटों को धमकाकर हटाने का आरोप लगाया है। भाजपा की ओर से कहा गया है कि पार्टी के पोलिंग एजेंट को बूथ नंबर 107 व 83ए से धमकाकर हटा दिया गया है। भाजपा ने चुनाव आयोग से इसकी शिकायत की है। वहीं, भवानीपुर उपचुनाव में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के खिलाफ चुनाव लड़ रहीं भाजपा उम्मीदवार प्रियंका टिबड़ेवाल ने तृणमूल विधायक व पूर्व मंत्री मदन मित्रा पर 72 नंबर वार्ड में बूथ को कैप्चर करने के लिए मशीनों को बंद कराने का सुबह में आरोप लगाया था।

उन्होंने चुनाव आयोग से भी इसकी शिकायत की। इस तरह सुबह से ही तृणमूल व भाजपा के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है। बता दें कि इससे भवानीपुर में चुनाव प्रचार के अंतिम दिन सोमवार को बंगाल भाजपा के पूर्व अध्यक्ष व पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष दिलीप घोष पर कथित तौर पर हमला भी किया गया था। इसको लेकर तृणमूल व भाजपा कार्यकर्ताओं में जिस तरह से झड़प हुई थी, उसे देखते हुए चुनाव आयोग बेहद सतर्क है। 

भाजपा ने बंगाल सरकार के दो मंत्रियों पर भवानीपुर क्षेत्र में मतदाताओं को प्रभावित करने का लगाया आरोप, चुनाव आयोग से शिकायत

गौरतलब है कि भवानीपुर विधानसभा सीट पर हो रहे उपचुनाव के बीच प्रदेश भाजपा ने राज्य के दो वरिष्ठ मंत्रियों फिरहाद हकीम एवं सुब्रत मुखर्जी पर क्षेत्र के मतदाताओं को प्रभावित करने का आरोप लगाया है। पार्टी ने दोनों मंत्रियों के खिलाफ राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) से शिकायत की है। भाजपा ने अपनी शिकायत में कहा है कि यह नियमों के प्रावधानों का घोर उल्लंघन है और इन दोनों मंत्रियों को कम से कम मतदान प्रक्रिया समाप्त होने तक इस निर्वाचन क्षेत्र के बाहर किसी पुलिस स्टेशन में हिरासत में रखा जाना चाहिए।