Indian Railways: 16 से शुरू होगा स्वच्छ भारत अभियान, प्लास्टिक मुक्त होंगे स्टेशन; प्रवेशद्वार भी चकाचक

हाथों में झाड़ू थामकर देश को स्वच्छ बनाने का अभियान एक बार फिर शुरू होने जा रहा है। महात्मा गांधी के 152वें जन्मदिन को ध्यान में रखकर इसका आगाज होगा।रेलवे ने 16 सितंबर से स्वच्छ भारत अभियान का एलान कर दिया है। अलग-अलग दिनों में अलग-अलग जगहों पर अभियान चलेगा और दो अक्टूबर को गांधी जयंती पर इसका समापन होगा।इस बार रेलवे ने अपने बड़े स्टेशनों को प्लास्टिक मुक्त करने का लक्ष्य रखा है। इसके साथ ही स्टेशन तक पहुंचने की राह को पैसेंजर फ्रेंडली और साथ-सुथरा करने की तैयारी है। इसके लिए नोडल अफसर नियुक्त होंगे। रेलवे बोर्ड स्तर पर हर दिन मानिटरिंग भी होगी।

ट्विटर समेत दूसरे इंटरनेट मीडिया पर दिखेंगी रेलवे की हर गतिविधि

रेलवे बोर्ड ने स्वच्छ भारत अभियान से जुड़ा आदेश जारी कर दिया है। हर स्टेशन पर चलने वाली गतिविधि ट्विटर समेत दूसरे इंटरनेट मीडिया के जरिए शेयर किया जाएगा। इसका उद्देश्य ज्यादा से ज्यादा यात्रियों को इस अभियान के प्रति जागरूक करना है। उन्हें प्रेरित किया जाएगा कि रेल परिसर में प्लास्टिक का कूड़ा न फैलाएं। इसके दुष्प्रभाव से भी अवगत कराया जाएगा।

दफ्तर से लेकर कालोनियों तक की होगी सफाई

इस अभियान के दौरान रेलवे के दफ्तरों से लेकर रेल कालोनियों को स्वच्छ बनाने का मुहिम चलेगा। रेलवे स्टेशन परिसर से लेकर ट्रेनों के अंदर भी साफ-सफाई के मुकम्मल बंदोबस्त कराए जाएंगे। स्टेशन को प्लास्टिक कूड़ा मुक्त करने संबंधी अनाउंसमेंट भी होंगे। धनबाद से खुलने और गुजरने वाली ट्रेनों में रेल अधिकारी मानिटिरंग करेंगे। रनिंग ट्रेनों में काम करनेवाले आउटसोर्सिंग कंपनियों के कर्मचारियों को साफ सफाई बरकरार रखने समेत अन्य दिशा निर्देश भी दिए जाएंगे। स्टेशन पर सफाई की जिम्मेदारी संभालने वाले कर्मचारियों को भी प्लास्टिक कूड़े को लेकर विशेष निगरानी के प्रति जागरूक किया जाएगा।