मुंबई में सिनेमाघर नहीं खोलने पर भड़कीं कंगना रनोट, उद्धव ठाकरे को बताया 'दुनिया का बेस्ट सीएम'

बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनोट इन दिनों अपनी हालिया रिलजी फिल्म 'थलाइवी' के लिए खूब सुर्खियां बटोर रही हैं। कंगना रनोट की इस फिल्म को तमिल और तेलुगू भाषा में तो थिएटर्स मिल गए। लेकिन कंगना की फिल्म को हिंदी भाषा में कोई थिएटर्स नहीं मिले। जिसे लेकर कंगना रनोट का गुस्सा सातवें आसमान पर पहुंच गया है। कंगना ने मुंबई में सिनेमाघर नहीं खोले जाने पर एक बार फिर से महाराष्ट्र सरकार को जमकर लताड़ लगाई है।

कंगना रनोट सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहती हैं। वो अक्सर फैंस के सामने कई समसामयिक मुद्दों को लेकर अपनी बात बेबाकी से रखती हैं। फैंस को भी कंगना का ये नेचर काफी पसंद आता है। अब हाल ही में कंगना रनोट ने महाराष्ट्र सरकार को खरी- खोटी सुनाई है। ऐसा इसलिए क्योंकि महाराष्ट्र सरकार ने अब तक मुंबई में सिनेमाघरों को खोला नहीं है। जिसकी वजह से फिल्म इंडस्ट्री को खासा नुकसान भुगतन पड़ रहा है।कंगना ने अपने आधिकारिक इंस्टाग्राम अकाउंट की स्टोरी पर एक पोस्ट शेयर किया है। इस पोस्ट में कंगना ने लिखा, 'महाराष्ट्र सरकार तब तक सिनेमाघरों को बंद रखने वाली है जब तक कि फिल्म इंडस्ट्री से थियेटर का कल्चर पूरी तरह खत्म नहीं हो जाता। यहां बहुत सी फिल्में सिनेमाघरों में रिलीज होने के लिए कतार में हैं और किसी को भी आर्टिस्ट्स, प्रोड्यूसर्स, डिस्ट्रीब्यूटर्स और सिनेमाघर संचालकों की चिंता नहीं है। यह राज्य सरकार का अलग- अलग रवैया फिल्म इंडस्ट्री के लिए साफतौर पर दर्शाता है। अब भी बुलीवुड (बॉलीवुड) ने चुप्पी साधे रखने का निश्चय किया है। लेकिन कोई दुनिया के सबसे बेस्ट सीएम से सवाल नहीं पूछ सकता।'

बता दें कि ये कोई पहली बार नहीं है कंगना कई बार इस मुद्दे पर पहले भी बात रख चुकी हैं। कई राज्यों में राज्य सरकार ने सिनेमाघर को 50% की क्षमता पर खोले जा चुके हैं। लेकिन महाराष्ट्र सरकार ने अब तक सिनेमाघरों को खोलने की मंजूरी नहीं दी है। जिस वजह से कंगना की फिल्म 'थलाइवी' भी हिंदी दर्शकों को देखने नहीं मिल पा रही है। गौरतलब है कि फिल्म 'थलाइवी' नेटफ्लिक्स पर हिंदी भाषा में जल्द ही रिलीज होने वाली है।