'देश के मेंटर्स' कार्यक्रम के ब्रांड एंबेसडर बने अभिनेता सोनू सूद, अरविंद केजरीवाल ने दी जानकारी

कोरोना वायरस संक्रमण के दौर में गरीबों और असहाय लोगों के लिए मसीहा बने अभिनेता सोनू सूद ने शुक्रवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से मुलाकात की। इस दौरान उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया भी मौजूद थे। सोनू सूद की यह मुलाकात मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आवास पर शुक्रवार सुबह 9 बजे के बाद हुई। इसके बाद संयुक्त पत्रकार वार्ता में अरविंद केजरीवाल ने जानकारी दी कि अभिनेता सोनू सूद 'देश के मेंटर्स' कार्यक्रम के ब्रांड एंबेसडर बनने के लिए सहमत हो गए हैं। इस पर खुद सोनू सूद ने मीडियाकर्मियों के साथ सहमति जताई है।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि सोनू सूद के साथ लंबी चर्चा हुई। इन्होंने कोरोना काल में अनगिनत लोगों की हर तरह से मदद की। हमने इनसे जाना कि इन्होंने यह सब किस तरह किया और साथ ही अपने अच्छे कामों से इनको अवगत कराया। अरविंद केजरीवाल ने जानकारी दी है कि हम लोग देश के मेंटोर कार्यक्रम शुरू कर रहे हैं और सोनू हमारे इस कार्यक्रम के ब्रांड अम्बेसडर होंगे। इस कार्यक्रम के जरिये हम सरकारी स्कूलों के बच्चों को भविष्य के बारे में गाइड करने की कोशिश करेंगे। इस कार्यक्रम का लांच हम सितंबर के मध्य में करेंगे, डेट अभी फिक्स नहीं हुई है। अरविंद केजरीवाल ने यह भी बताया कि जल्द ही दिल्ली सरकार एक फ़िल्म पालिसी भी लाने जा रहे हैं, जिसे लेकर हम सोनू से भी चर्चा करेंगे।

वहीं, सोनू सूद ने कहा कि सीएम साहब ने नई जिम्मेदारी दी है, कोशिश करूंगा अच्छे से निभाने की। जब भी स्कूलों और शिक्षा की बात आती है तो दिल्ली का नाम सबसे पहले आता है। देश के मेंटोर कार्यक्रम के भी अच्छे परिणाम सामने आएंगे, बच्चों को अपने भविष्य को लेकर निर्णय लेने में मदद मिलेगी। वहीं, एक सवाल के जवाब में उन्होंने राजनीति में आने से साफ इनकार किया। कहा कि अभी तो इस बारे में कुछ सोचा तक नहीं।

गौरतलब है कि  मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को वसंत विहार में पीवीआर प्रिया के पी-एक्सएल फार्मेट के साथ आधुनिक एवं उन्नत स्क्रीन का उद्घाटन किया। 19 मीटर चौड़ी व नौ मीटर ऊंची यह स्क्रीन अब दिल्ली की सबसे बड़ी स्क्रीन है।

इस दौरान अरविंद केजरीवाल ने कहा था कि दिल्ली सरकार ने एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री को हमेशा सपोर्ट किया है। इस इंडस्ट्री में बड़ी संख्या में लोगों को रोजगार भी मिलता है। हालांकि कोरोना काल में सबसे ज्यादा नुकसान इसी इंडस्ट्री को हुआ है।

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हम ध्यान रख रहे हैं कि कोरोना भी न बढ़े और लोगों की रोजीरोटी भी चलती रहे। उन्होंने कहा कि देश के विभिन्न राज्यों की फिल्म पालिसी का अध्ययन करके दिल्ली सरकार अपने लिए नई फिल्म पालिसी बना रही है। अगले 10-15 दिन में यह तैयार हो जाएगी। इसके लागू होने से राजधानी फिल्म निर्माण, शूटिंग व इससे संबंधित क्रियाकलापों के लिए सबसे पसंदीदा जगह बन जाएगी।

कोरोना के दौरान मजदूरों को मदद देने सोनू सूद सबसे आगे रहे थे। उन्होंने रेमडेसीविर इंजेक्शन, ऑक्सीजन उपलब्ध करवाने के साथ अन्य तरह की मदद भी लोगों की। ऐसे में लोग इन्हें मसीहा सोनू सूद कहने लगे। 

गौरतलब है कि  अभिनेता और माडल सोनू सूद टालीवुड और कालीवुड के साथ-साथ बालीवुड और कन्‍नड़ फिल्‍मों में भी अपनी प्रतिभा का लोहा मनवा चुके हैं।

लुधियाना (पंजाब) में जन्में सोनू सूद ने वाईसीसीई नागपुर से इलेक्‍ट्रानिक्‍स में इं‍जीनियरिंग की है, लेकिन अभिनय में रुचि के चलते मुंबई चले गए। यह बता देना जरूरी है कि सोनू सूद ने बालीवुड में अपने करियर की शुरुआत फिल्‍म 'शहीदे-ए-आजम' से की थी। इस फिल्म में उन्होंने लीड रोल यानी भगत सिंह का किरदार निभाया था। इसके बाद उन्‍होंने कई छोटी बड़ी फिल्‍मों और अन्‍य भाषाओं की फिल्‍मों में भी काम किया जिसमें तमिल, तेलगु भी शामिल है।