Corona vaccine In Bengal: मतदाता सूची से कोरोना निरोधी टीका लेनेवालों का हिसाब रखेगी ममता सरकार

बंगाल की ममता सरकार अब राज्यभर में कोरोना निरोधी टीका लेने वालों की पूरी जानकारी रखने के लिए मतदाता सूची का सहारा लेने का निर्णय लिया है। प्रत्येक मतदान केंद्र के इलाके में रहने वाले लोगों को टीकाकरण के दायरे में लाने और उन सबका हिसाब रखने के लिए मतदाता सूची का सहारा लिया जाएगा।

स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना की तीसरी लहर से पहले तेजी से टीकाकरण पर जोर दिया है। स्वास्थ्य विभाग के सूत्रों के मुताबिक पहले चरण में कोरोना वारियर्स के टीकाकरण पर जोर दिया गया। इसके बाद 45 साल से ऊपर और 18 साल से ऊपर के कोरोना ‘सुपर स्प्रेडर्स’ के चरण-दर-चरण टीकाकरण पर जोर दिया गया। 12 साल की उम्र तक के बच्चों के बचाव के लिए माताओं के टीकाकरण पर भी जोर दिया गया है यद्यपि 18 वर्ष से अधिक आयु के सभी लोगों को टीका लगाने की घोषणा की गई थी, लेकिन उन सभी को पहली खुराक नहीं लगाया जा सका, क्योंकि मांग के अनुसार टीके की आपूर्ति नहीं थी। हालांकि, टीकों की आपूर्ति पहले से अब अधिक हुई है।

जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक पूर्व मेदिनीपुर में करीब 18 लाख निवासियों को वैक्सीन की पहली खुराक मिल चुकी है जो लक्ष्य का 36 फीसद है। 11 लाख निवासियों को दूसरी खुराक का टीका लगाया गया है, जो लक्ष्य का 24 फीसद है। इनमें कांथी और हल्दिया नगर पालिका क्षेत्रों में टीकाकरण दर अधिक है। इसकी तुलना में तमलुक, एगरा और पांसकुरा नगर पालिकाएं पिछड़ रही हैं। शुरुआत में शहरी क्षेत्रों में मतदाता सूची के जरिए लिस्ट तैयार की जा रही है।