सबसे बड़े सरकारी अस्पताल एसएसकेएम में अब हर सप्ताह स्वास्थ्य अधिकारियों के साथ बैठक करेंगी ममता बनर्जी

राज्य की स्वास्थ्य व्यवस्था को और बेहतर करने के लिए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी सूबे के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल एसएसकेएम (पीजी) में अब हर सप्ताह एक दिन बैठेंगी। यहां ममता का एक चेंबर भी होगा, जहां वह हर सप्ताह स्वास्थ्य विभाग के आला अधिकारियों के साथ बैठक करेंगी। गुरुवार देर शाम अचानक एसएसकेएम अस्पताल का दौरा करने के बाद मुख्यमंत्री ने खुद इसकी जानकारी दी।

दरअसल ममता मुख्यमंत्री के अलावा स्वास्थ्य मंत्री की भी जिम्मेदारी संभाल रही हैं। एसएसकेएम अस्पताल में पत्रकारों से बात करते हुए ममता ने कहा कि स्वास्थ्य व्यवस्था को और बेहतर करने में राज्य सरकार लगी हुई है। इसके लिए एसएसकेएम अस्पताल के विस्तार समेत सभी सरकारी अस्पतालों पर नजर रखना जरूरी है। इसीलिए वह हर सप्ताह पीजी में अब बैठक करेंगी। जिसमें कभी मुख्य सचिव तो कभी स्वास्थ्य सचिव व अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित रहेंगे। इस बैठक के लिए एक बोर्ड का भी गठन किया गया है।

इस बैठक के जरिए मुख्यमंत्री राज्य के सभी अस्पतालों के काम-काज आदि के बारे में समीक्षा करेंगी। किन अस्पतालों में किस चीज की दिक्कत है आदि का इसके जरिए समाधान किया जाएगा। उन्होंने बताया कि पीजी में एक निजी अस्पताल के साथ मिलकर जल्द ही कैंसर अस्पताल भी खोला जाएगा। जहां कैंसर मरीजों का मुफ्त इलाज होगा। इस दौरान ममता ने यह भी कहा कि हमारी प्राथमिकता औद्योगिक विकास और रोजगार के अधिक अवसर पैदा करना है। स्वास्थ्य क्षेत्र भी इसमें महत्वपूर्ण है।

दूसरी ओर, राज्य में कोरोना के घटते संक्रमण के मद्देनजर राज्य सरकार ने कोविड अस्पतालों की संख्या घटा दी है। राज्य सरकार ने 13 सरकारी अस्पतालों को नॉन कोविड अस्पताल घोषित किया है।