कोलकाता से जेएमबी के तीन आतंकी गिरफ्तार

कोलकाताः एक ओर लखनऊ में स्थानीय एसटीएफ एक मकान में आतंकी संगठन अलकायदा आतंकियों के खिलाफ अपरेशन को अंजाम दिया. वहीं महानगर कोलकाता के हरिदेवपुर में भी कोलकाता पुलिस की एसटीएफ ने एक अपरेशन को अंजाम देकर जेएमबी के तीन आतंकियों को गिरफ्तार किया है. कोलकाता पुलिस के एसटीएफ ने कोलकाता से आतंकवादी संगठन जमात-उल-मुजाहिद्दीन बांग्लादेश (जेएमबी) के तीन संदिग्ध आतंकवादियों को गिरफ्तार कर लिया. वे आतंकी दक्षिण कोलकाता में ठिकाना बनाए हुए थे. 

गिरफ्तार आतंकियों के पास से हथियार भी जब्त किये गए हैं. कोलकाता पुलिस के एसटीएफ ने शनिवार की रात को उन्हें हरिदेवपुर इलाके से गिरफ्तार किया गया है. ये सभी बांग्लादेशी नागरिक हैं और इनके संबंध पाकिस्तानी गुप्तचर एजेंसी आईएसआई के साथ था. जेएमबी के संदिग्ध आतंकियों के नाम नाजी-उर-रहमान, शेख शब्बीर और रिजाऊल बताया गया है. 

ये आतंकी लंबे समय से कोलकाता में ठिकाना बनाए हुए थे और साजिश रच रहे थे. गुप्त सूचना के आधार पर एसटीएफ ने इन लोगों को गिरफ्तार किया है. कोलकाता पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार ये आतंकी दक्षिण कोलकाता के हरिदेवपुर में एक किराये के मकान में रहते थे और वहां वे आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने के लिए साजिश रच रहे थे. पुलिस का कहना है कि ये आतंकी कोलकाता में रहकर आतंकी संगठनों के विस्तार की रणनीति बना रहे थे और अपना संगठन भी बना रहे थे. पुलिस को गुप्त सूचना के आधार पर इसकी जानकारी मिली. उसके बाद स्पेशल टास्क फोर्स ने यह कार्रवाई की.

 स्पेशल टास्क फोर्स के ज्वाइंट पुलिस कमिश्नर वी सोलोमन नेशा कुमार ने बताया कि प्रारंभिक पूछताछ में पता चला है कि ये लोग कुछ दिनों पहले मुर्शिदाबाद में रह रहे थे और हाल ही में कोलकाता में शिफ्ट हुए थे. शनिवार की रात पुख्ता सूचना मिलने के बाद एसटीएफ की टीम ने स्थानीय पुलिस के साथ मिलकर छापेमारी की और तीनों को धर दबोचा. प्रारंभिक तौर पर पुलिस को आशंका है कि कोलकाता में आतंकियों की भर्ती, प्रशिक्षण और फंडरेजिंग का काम तीनों कर रहे थे. तीनों सक्रिय आतंकी हैं. इनके पास से मोबाइल फोन, डायरी सहित इस्लामिक कट्टरवाद से संबंधित नोट्स और किताबें भी बरामद हुई हैं. 

 इनकी डायरी में जेएमबी आतंकियों के नाम और नंबर मिले हैं. इसकी सूचना बांग्लादेश की सुरक्षा एजेंसियों की भी दी जाएगी. प्रारंभिक तौर पर इन लोगों ने स्वीकार किया है कि बंगाल के विभिन्न हिस्सों में स्लीपर सेल तैयार कर चुके हैं. सोशल मीडिया के जरिए भी युवाओं को आतंकवाद से जोड़ने का काम करते थे. बांग्लादेश की सीमा से सटे जिले मालदा और मुर्शिदाबाद में पहले से ही इन लोगों का स्लीपर सेल तैयार था. उल्लेखनीय है कि जेएमबी बांग्लादेश में प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन है.  इसके गुर्गे बंगाल में अपने संगठन का विस्तार करने में जुटे हैं. 

इसके पहले भी जेएमबी के आतंकी संगठनों के स्लीपर सेल भी पहचान हुई थी. स्लीपर सेल यहां विभिन्न वर्गों खास कर युवाओं में अपने विस्तार की कोशिश में लगा थी. खास कर बांग्लादेश से सटे जिलों मालदा और मुर्शिदाबाद में इसके पहले भी आतंकी संगठनों के तार जुट चुके हैं और कुछ माह पहले मुर्शिदाबाद से पुलिस ने कई आतंकियों को गिरफ्तार किया था.