बिहार के सीएम नीतीश कल रवाना होंगे दिल्‍ली, जदयू की बैठक में हो सकता है चौंकाने वाला फैसला

बिहार की प्रमुख राजनीतिक पार्टी जनता दल यूनाइटेड (Janta Dal United National Executive Meeting) में फिर एक बार बड़ा बदलाव हो सकता है। जदयू की राष्ट्रीय कार्य समिति की बैठक 31 जुलाई को नई दिल्ली में होगी। इसमें मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar), पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं केंद्रीय इस्पात मंत्री आरसीपी सिंह (Central Minister RCP Singh) के अलावा सभी सांसद और कार्यसमिति के सभी सदस्य शामिल होंगे। जदयू के राष्ट्रीय महासचिव एए खान ने बुधवार को इस बाबत जानकारी दी। बताया जा रहा है कि मुख्‍यमंत्री इस बैठक में शामिल होने के लिए 30 जुलाई यानी शुक्रवार को दिल्‍ली रवाना हो सकते हैं।

जदयू के नए राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष के चुनाव की चर्चा

जदयू के मौजूदा राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष आरसीपी सिंह के केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल होने के बाद पार्टी में नया अध्‍यक्ष चुने जाने की चर्चाएं तेज हैं। खुद आरसीपी ने कहा कि पार्टी जब कहेगी वे राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष का पद छोड़ने के लिए तैयार हैं। हालांकि इसके साथ उन्‍होंने ये भी जोड़ा कि वे केंद्रीय मंत्री रहते हुए भी पार्टी अध्‍यक्ष के अपने दायित्‍वों का निर्वहन करने में पीछे नहीं हटेंगे। ऐसी संभावना जताई जा रही है कि पार्टी नए चेहरे को अध्‍यक्ष पद की जिम्‍मेदारी दे सकती है। हालांकि पार्टी की ओर से अब तक ऐसी किसी संभावना को न तो स्‍वीकार और न ही इनकार किया गया है।

जानिए कौन बन सकता है नया राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष

अगर पार्टी अध्‍यक्ष पद पर चेहरा बदलने का फैसला करती है तो जो नाम चर्चा में सबसे आगे चल रहा है, वह है उपेंद्र कुशवाहा का। इनके अलावा ललन सिंह का नाम भी चर्चा में आता रहा है। एक चर्चा यह भी है कि सीएम नीतीश खुद ही दोबारा पार्टी की कमान अपने हाथ में ले सकते हैं। हालांकि पार्टी इस बारे में अपने पत्‍ते खोलने के लिए अभी तैयार नहीं है। आरसीपी से पहले पार्टी की कमान खुद नीतीश कुमार के हाथ में ही थी। कुछ महीने पहले ही उन्‍होंने यह जिम्‍मेदारी आरसीपी को सौंपी थी। उनसे पहले शरद यादव लंबे समय तक जदयू के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष रहे।