टीका लगाने से डर रहे लोगों की शंका को पीएम मोदी ने किया दूर, कहा- मैंने लिए कोरोना के दोनों डोज

आज यानी 27 जून को 'मन की बात' कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वैक्सीनेशन पर भी अपनी बात रखी। अधितकर लोगों में वैक्सीनेशन की झिझक दूर करने के लिए भी पीएम ने लोगों से आग्रह किया। 21 जून 2021 से शुरू किए कोरोना वैक्सीनेशन महाअभियान के पहले दिन भारत 86 लाख से ज्यादा लोगों का टीकाकरण कर ऐतिहासिक उपलब्धि हासिल थी। इस पर भी पीएम मोदी ने देश की सराहनीय गति की सराहना की।

पीएम ने अपने संबधोन में कहा,'कोरोना के खिलाफ हम देशवासी जो लड़ाई लड़ रहे हैं, वह जारी है, लेकिन इस लड़ाई में हमने कई असाधारण मील के पत्थर हासिल किए हैं। अभी कुछ दिन पहले हमारे देश ने एक अभूतपूर्व उपलब्धि हासिल की। ​​21 जून को 86 लाख से अधिक लोगों ने एक दिन में टीके की मुफ्त खुराक प्राप्त करने का रिकॉर्ड बनाया है।

वहीं पीएम मोदी ने मन की बात कार्यक्रम में मध्य प्रदेश के बैतूल जिले के दुलारिया गांव के दो ग्रामीणों से बात की। जिन्होंने सोशल मीडिया के माध्यम से अपने गांव में वैक्सीन को लेकर हो रही हिचकिचाहट की जानकारी दी थी। इस दौरान प्रधानमंत्री ने उनकी शंकाओं के बीच उन्हें कोरोना वैक्सीन लेने की सलाह दी।

पीएम ने ग्रामीणों को अफवाहों पर ध्यान ना देने को कहा। साथ ही कहा,'मैंने दोनों खुराक ली हैं। मेरी मां लगभग सौ साल की हैं, उन्होंने भी दोनों टीके भी लिए हैं। कृपया टीकों से संबंधित किसी भी नकारात्मक अफवाह पर विश्वास न करें'। उन्होंने कहा, हम सभी अपना काम करेंगे और सुनिश्चित करेंगे कि हमारे आसपास के लोगों का टीकाकरण हो। पीएम मोदी ने ग्रामीणों से कहा कि वैक्सीन की झिझक से छुटकारा पाएं। भारत में ऐसे कई गांव हैं जहां 100 फीसदी टीकाकरण हुआ है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि कोरोना का खतरा बना हुआ है और लोगों को टीकाकरण के साथ-साथ कोरोना वायरस प्रोटोकॉल का पालन करने पर ध्यान देना होगा। उन्होंने कहा, 'मैं आप सभी से विज्ञान पर भरोसा करने का आग्रह करता हूं। हमारे वैज्ञानिकों पर भरोसा करें। इतने सारे लोगों ने वैक्सीन ले ली है।