तृणमूल कांग्रेस ने‌ केंद्र सरकार पर साधा निशाना- कोविड उपकरण पर जीएसटी लगाकर लोगों के साथ मजाक

केंद्र सरकार ने कोरोना के इलाज में जरूरी दवाओं समेत एंबुलेंस पर जीएसटी दर को शनिवार को भले ही घटा दिया, लेकिन बावजूद इसके बंगाल में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस ने‌ मोदी सरकार की आलोचना करते हुए निशाना साधा। तृणमूल के वरिष्ठ नेता व राज्य के शिक्षा मंत्री ब्रात्य बसु ने कहा कि केंद्र ने जीएसटी भले ही कम कर दिया गया, लेकिन कोरोना की डाइट टैक्स फ्री नहीं है। टीकों पर भी पांच फीसद जीएसटी लागू है। यहां तक कि एंबुलेंस पर भी जीएसटी है।

उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार कोविड से संबंधित उपकरणों, दवाएं व एंबुलेंस पर टैक्स लगाकर लोगों का मजाक उड़ा रही है। उन्होंने कहा कि जीएसटी परिषद की बैठक के बाद वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा है कि कोविड-19 पर पांच फीसद जीएसटी जारी रहेगी। एंबुलेंस पर भी टैक्स लगेगा। जीवन रक्षक दवाओं पर भी टैक्स लगता है। यह दर्शाता है कि भाजपा नीत केंद्र सरकार जनविरोधी है। इन्होंने जनविरोधी नीतियां बनाई है। एंबुलेंस पर जीएसटी लगाना हास्यास्पद है। निर्मला सीतारमण ने देशवासियों के साथ मजाक किया है।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी बार-बार इन सभी चीजों में रियायत व टैक्स से मुक्ति की मांग करती रही है लेकिन मोदी सरकार जनविरोधी है। तृणमूल नेता ने कहा कि किसी भी सभ्य देश में इन चीजों पर टैक्स नहीं लगता। इस सरकार को लोगों के लिए कोई सहानुभूति नहीं है।

बताते चलें कि केंद्र सरकार ने जरूरी दवाओं समेत एंबुलेंस पर जीएसटी की दर को घटाकर काफी कम करने की घोषणा की है, लेकिन बावजूद इसके तृणमूल हमलावर है।