Puri Jagannath Temple : 25 जुलाई तक भक्तों के लिए बंद रहेगा पुरी जगन्नाथ मंदिर, रथयात्रा के बाद प्रवेश पर विचार

 

पुरी जगन्नाथ मंदिर को 25 जुलाई तक भक्तों के लिए बंद रखने का जगन्नाथ मंदिर प्रशासन की तरफ से निर्णय लिया गया है। यह जानकारी पुरी जगन्नाथ मंदिर के मुख्य प्रशासक किशन कुमार ने दी है। पुरी जगन्नाथ महाप्रभु की विश्व प्रसिद्ध रथयात्रा एवं नीलाद्री बिजे संपन्न होने के बाद मंदिर में भक्तों के प्रवेश को लेकर चिंतन किए जाने की बात मुख्य प्रशासक ने कही है।

विभिन्न सेवायत नियोग के कार्यकर्ता, जिला प्रशासन एवं पुलिस अधिकारियों के साथ चर्चा के बाद यह महत्वपूर्ण निर्णय लिया गया है। कोरोनावायरस के बीच इस साल भी बिना भक्तों के महाप्रभु जगन्नाथ जी की स्नान यात्रा एवं रथयात्रा की विधि संपन्न की जाएगी। इसके लिए पुरी जगन्नाथ मंदिर में भक्तों के प्रवेश पर रोक लगा दी गई है।

24 जून को होगी स्नान यात्रा

मुख्य प्रशासक ने कहा है कि केवल पालिया सेवकों को लेकर आगामी 24 जून को जगन्नाथ महाप्रभु की स्नान यात्रा नीति संपन्न की जाएगी। 12 जुलाई को महाप्रभु जगन्नाथ जी की विश्व प्रसिद्ध रथयात्रा है ऐसे में इस दौरान किसी भी भक्तों को इसमें शामिल होने की अनुमति नहीं दी जाएगी। बिना भक्तों के रथयात्रा निकालने के लिए राज्य सरकार ने जो निर्देश दिया है उसका सख्ती से अनुपालन किया जाएगा।

23 जुलाई को रत्न सिंहासन के लिए नीलाद्री बिजे

रथ यात्रा खत्म होने के बाद 23 जुलाई को महाप्रभु जगन्नाथ मंदिर में रत्न सिंहासन के लिए नीलाद्री बिजे करेंगे। इसे ध्यान में रखते हुए 25 जुलाई तक पुरी जगन्नाथ मंदिर में भक्तों के प्रवेश पर प्रतिबंध जारी किया गया है। श्रीजीवों के नीलाद्री बिजे के बाद कोरोना संक्रमण की स्थिति की समीक्षा होगी और फिर आगे का निर्णय लिया जाएगा।