Ganga River Dead Bodies Issue: लालू बोले- हिंदुओं के शवों को दफना रही सरकार, कफन तक नसीब नहीं

Bihar-UP Ganga Dead Bodies Issue: बिहार और उत्‍तर प्रदेश के बीच गंगा नदी में बक्‍सर और गाजीपुर के पास मिले शवों को लेकर सियासत थमने का नाम नहीं ले रही है। यह मामला काफी तूल पकड़ चुका है और इस पर पटना हाईकोर्ट के अलावा केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत तक संज्ञान ले चुके हैं। अब बिहार के पूर्व मुख्‍यमंत्री और राष्‍ट्रीय जनता दल के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष लालू प्रसाद यादव ने सरकार पर इस मसले को लेकर बड़ा हमला बोल दिया है। लालू ने कहा है कि जिंदा रहते इलाज नहीं मिला और मरने के बाद हिंदुओं के शवों को दफनाया जा रहा है।

गंगा में मिले शवों पर लगातार हमलावर है राजद और लालू परिवार

बक्‍सर और यूपी के बीच गंगा में मिले शवों पर राजद और पूरा लालू परिवार लगातार हमलावर है। इसी कड़ी में लालू प्रसाद यादव के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से बुधवार की देर रात बयान जारी कर कहा गया कि जीते जी जिन्‍हें ऑक्‍सीजन, बेड, दवाएं और इलाज नहीं मिला, उन्‍हें मरने के बाद लकड़ी और कफन तक नहीं मिल सका। शवों को दुर्गति के लिए गंगा में फेंक दिया गया। कुत्‍ते उन्‍हें नोच रहे हैं। हिंदुओं के शवों को दफना दिया गया। कहां ले जा रहे हैं देश को...

बक्‍सर में गंगा से मिल चुके हैं 100 से अधिक शव

उत्‍तर प्रदेश के गाजीपुर और बलिया जिलों को बिहार के बक्‍सर जिले से गंगा नदी अलग करती हैं। इन तीन जिलों के बीच गंगा नदी में अब तक 100 से अधिक शव बक्‍सर का प्रशासन गंगा से निकाल चुका है। बक्‍सर के जिला प्रशासन और बिहार सरकार का दावा है कि ये सभी उत्‍तर प्रदेश से बहकर बिहार की तरफ आए हैं।

शवों को पोस्‍टमॉर्टम के बाद प्रशासन ने करवाया था दफन

एक साथ बड़ी तादाद में शवों को देखे जाने के बाद स्‍थानीय प्रशासन ने जेसीबी से गड्ढे खुदवाकर सभी शवों को दफना दिया था। इससे पहले कई शवों का कोविड टेस्‍ट करने के लिए सैंपल लिया गया। बक्‍सर जिले के स्‍वास्‍थ्‍य विभाग ने कई शवों का प्रशासन के अनुरोध पर पोस्‍टमॉर्टम भी कराया था।