BSF ने भारत मे घुसपैठ की कोशिश कर रहे तीन बांग्लादेशियों को सीमा पर दबोचा

दक्षिण बंगाल के जिलों से लगती भारत-बांग्लादेश सीमा पर सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) घुसपैठियों के मंसूबे को लगातार विफल कर रही है। इसी क्रम में दक्षिण बंगाल फ्रंटियर अंतर्गत  बीएसएफ के सतर्क जवानों ने अंतरराष्ट्रीय सीमा को अवैध तरीके से पार करने की कोशिश कर रहे तीन बांग्लादेशियों को सीमा पर ही धर दबोचा। 

अधिकारियों ने बताया कि ये तीनों बांग्लादेशी नागरिक 23 अप्रैल को मुर्शिदाबाद जिले के सीमावर्ती क्षेत्र से भारत में घुसने का प्रयास कर रहे थे। बीएसएफ की ओर से जारी बयान में बताया गया कि बल के खुफिया विभाग से जानकारी मिलने पर सीमा चौकी फ़र्ज़ीपाड़ा के कंपनी कमांडर ने अपनी अगुआई में चर एरिया में सर्च आपरेशन चलाया। इस ऑपरेशन के दौरान सर्च पार्टी ने भारत में घुसपैठ की कोशिश कर रहे तीन बांग्लादेशियों को धर दबोचा जो भारत में आकर दिल्ली और बैंगलोर जैसे शहरों में जाकर रोजगार पाना चाहते थे।

बांग्लादेशियों के पास से भारतीय सिम व आधार कार्ड भी बरामद 

दक्षिण बंगाल फ्रंटियर के प्रवक्ता व डीआइजी सुरजीत सिंह गुलेरिया ने बताया कि पकड़े गए तीन बांग्लादेशियों में से दो इससे पहले भी भारत के उपरोक्त शहरों में रह चुके है। इनके पास से तीन मोबाइल सहित बांग्लादेशी और भारतीय सिम भी बरामद किए गए।

 इसके अलावा इनके पास से भारतीय आधार कार्ड भी बरामद किए गए। इन लोगों से पूछताछ के दौरान यह पता चला कि ये आधार कार्ड इनको 23 अप्रैल की सुबह ही बांग्लादेशी दलाल द्वारा प्राप्त हुए जिनके लिए उन्होंने 1,000 से 2,000 रुपये के भुगतान किए थे। 

बांग्लादेशियों को दलाल मुहैया करा रहे जाली आधार व वोटर कार्ड

 बांग्लादेशी नागरिकों ने पूछताछ में यह भी खुलासा किया कि उनकी तरह बहुत बड़ी संख्या में बांग्लादेशी नागरिक दलालों की मदद से नकली आधार कार्ड और वोटर कार्ड बनवा कर भारत में दिल्ली, केरल और बेंगलुरु में जाकर रह रहे है, और काम कर रहे है। यह पूछे जाने पर कि ये नकली आधार कार्ड और वोटर कार्ड कौन बनवा कर देता है तो उनका जवाब था कि बांग्लादेशी दलालों का सीधा संपर्क भरतीय दलालों से होता है, वे लोग ही इनको पैसा लेकर दस्तावेज बड़ी ही आसानी से बनवा कर दे देते हैं। बांग्लादेशी घुसपैठियों का भारतीय दलालों से सीधा संपर्क नही होता जिसका नाम ये बता सके।

बांग्लादेश के बागेरहाट जिले के रहने वाले हैं तीनों 

गिरफ्तार किए गए बांग्लादेशियों के नाम मोहम्मद रुबेल होवलादार (27), नजमुल हसन (24) व मोहम्मद सबीर शेख (35) है। तीनों बांग्लादेश के बागेरहाट (खुलना विभाग) जिले के मुरालगंज थाना क्षेत्र के रहने वाले है। बीएसएफ ने गिरफ्तार किए गए तीनों बांग्लादेशियों को पुलिस स्टेशन- जालंगी, जिला- मुर्शिदाबाद को अग्रिम कार्यवाही हेतु सौप दिया है।

जवानों की तत्परता से घुसपैठियों के मंसूबे हो रहे विफल : कमांडेंट

इधर, 141वीं बटालियन बीएसएफ के कमांडेंट एन एस रौतेला ने बताया की मुस्‍तैद जवानों द्वारा दिन-रात ड्यूटी में दिखाई गई तत्परता के कारण भारतीय या बांग्‍लादेशी तस्कर या घुसपैठिए अपने मंसूबों में कामयाब नही हो पाते हैं। दक्षिण बंगाल फ्रटियर की तरफ से व शून्‍य तस्करी की तर्ज पर शून्य घुसपैठ के प्रति हमारी बटालियन के जवान दृढ संकल्पित हैं।