बंगाल विस चुनाव के आठवें चरण में आपराधिक मामले वाले 64 प्रत्याशी, 55 करोड़पति; 50 के खिलाफ बेहद गंभीर आपराधिक मामले

बंगाल विधानसभा चुनाव के आठवें चरण के 283 प्रत्याशियों में से 64 के खिलाफ  आपराधिक मामले दर्ज हैं। इनमें से 50 के खिलाफ बेहद गंभीर आपराधिक मामले हैं। इनमें भाजपा के 21, तृणमूल कांग्रेस के 11, कांग्रेस के 10 व माकपा के सात प्रत्याशी शामिल हैं। आठवें चरण में 55 करोड़पति प्रत्याशी हैं, जिनमें तृणमूल के 28, भाजपा के 12, कांग्रेस के पांच और माकपा का एक प्रत्याशी शामिल है। आठवें चरण के प्रत्याशियों की औसत संपत्ति 1.08 करोड़ रुपये है। भाजपा के तापस कुमार यादव आठवें चरण में वीरभूम जिले की नलहाटी सीट से भाजपा प्रत्याशी तापस कुमार यादव (आनंद यादव) आठवें चरण में सबसे अमीर प्रत्याशी हैं। हलफनामे के मुताबिक उनकी कुल संपत्ति 34,60,93,674 रुपये हैं।

 दूसरी तरफ कोलकाता की काशीपुर-बेलगछिया सीट से निर्दलीय प्रत्याशी कुश महाली सबसे गरीब प्रत्याशी हैं। उनकी कुल संपत्ति 500 रुपये की है। कोलकाता की चौरंगी सीट से तृणमूल की निर्वतमान विधायक नयना बंद्योपाध्याय की संपत्ति पिछले पांच वर्षों में सबसे ज्यादा 185.67 फीसद बढ़ी है। यह 2016 के 2,45,09,453 रुपये से बढ़कर 2021 में 700,15,752 रुपये हो गई है। दूसरी तरफ वीरभूम की नानूर सीट से माकपा की निवर्तमान विधायक श्यामली प्रधान की संपत्ति इन पांच वर्षों में सबसे ज्यादा घटी है। 2016 में यह 5,94,838 रुपये थी जो अब घटकर 3,61,229 रुपये हो गई है।

152 प्रत्याशी मपांचवींहज  से बारहवीं पास

आठवें चरण में 152 प्रत्याशियों ने अपनी शैक्षिक योग्यता पांचवीं से बारहवीं के बीच बताई है जबकि 127 प्रत्याशियों ने स्नातक व उससे ज्यादा घोषित की है। 81 प्रत्याशी 25 से 40 वर्ष की उम्र के आठवें चरण में 81 प्रत्याशी  25 से 40 वर्ष की उम्र के हैं जबकि 158 प्रत्याशियों ने अपनी उम्र 41 से 60 के बीच बताई है। वहीं 44 प्रत्याशियों की उम्र 61 से 80 के बीच है।  आठवें चरण में 35 महिला प्रत्याशी हैं।