नाबालिग के साथ चार लोगों ने दो दिन तक किया गैंगरेप

न्यूज डेस्कः राजस्थान में गहलोत सरकार के आदेशों को अपराधी ताक पर रखकर चल रहे हैं। पिछले कुछ समय से लगातार सूबे में महिला अपराध का ग्राफ बढ़ता ही जा रहा है। ताजा मामला भरतपुर से है, जहां एक नाबालिग को चार बदमाशों ने दो दिन तक बंधक बनाकर रखा और सामूहिक दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया है।

बता दें कि सीएम गहलोत ने पिछले सप्ताह ही ऐसे मामलों पर सख्त होने के निर्देश दिए थे। लेकिन बदमाशों ने इन आदेशों का मखौल बना रखा है और ये आदेश बदमाशों के लिए केवल कागज़ पर लिखी बातें साबित हो रही हैं। 

जानकारी के अनुसार, घटना भरतपुर के जुरहरा इलाके का है। यहां की एक नाबालिग बच्ची पांच दिन पहले घर से जंगल की तरफ शौच करने गई थी। जहां से चार बदमाशों ने उसे अगवा कर लिया था। इसके बाद उसे लगातार दो दिन तक नशा देकर और बंधक बनाकर हैवानियत को अंजाम देते रहे। इसके बाद बच्ची को जंगल में छोड़कर भाग गए।

जब पीड़िता ने आपबीती अपने परिजनों से यह बात बताई, तो उन्होंने बदमाशों के खिलाफ मामला दर्ज कराया है। पीड़िता ने शिकायत में बताया है कि 17 मार्च की रात करीब नौ बजे वह घर के पास स्थित तालाब के पास शौच के लिए गई थी। तभी पहले से घात लगाकर बैठे चार बदमाशों ने उसे अगवा कर लिया और दो दिन तक बंधक बनाकर बारी-बारी से दुष्कर्म करते रहे। इसके बाद उसे बेहोशी की हालत में 19 मार्च को सुबह उसके घर के पास छोड़कर भाग गए।


इस मामले में स्थानीय पुलिस थाने कामां के सीओ प्रदीप यादव ने बताया कि एक नाबालिग के साथ गैंगरेप का मामला सामने आया है। साथ ही पीड़िता का मेडिकल करा लिया गया और जांच आगे बढ़ा दी गई है। जल्द ही इस वारदात में शामिल आरोपी हमारी गिरफ्त में होंगे। फिलहाल पुलिस आरोपियों की तलाश में जुटी हुई है और पीड़िता के बयान दर्ज करा दिए गए है।