सुशांत की 'छिछोरे' बेस्ट फिल्म, कंगना बेस्ट ऐक्ट्रेस

न्यूज डेस्क: राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार के 67वें समारोह का आयोजन 22 मार्च को हुआ। हिंदी सिनेमा की बात करें तो इस बार अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की फिल्म और एक्ट्रेस कंगना रनौत ने बाजी मारी है। सुशांत की फिल्म 'छिछोरे' बेस्ट हिंदी फिल्म चुनी गई, इस फिल्म में मानसिक स्वास्थ्य को लेकर बात की गई थी। वहीं कंगना रनौत को दो फिल्मों के लिए बेस्ट एक्ट्रेस के अवॉर्ड से सम्मानित किया गया है, उन्हें 'मणिकर्णिका' और फिल्म 'पंगा' के लिए ये पुरस्कार दिया गया है। इसके अलावा अक्षय कुमार की फिल्म 'केसरी' के गाने 'तेरी मिट्टी' के लिए बेस्ट मेल प्लेबैक सिंगर का अवॉर्ड बी प्राक ने अपने नाम कर लिया है। 

देखें विजेताओं की लिस्ट-

बेस्ट नैरेशन- वाइल्ट कर्नाटका

बेस्ट म्यूजिक डायरेक्टर- विषाख ज्योति

सविता सिंह को फिल्म सौंसी के लिए बेस्ट सिनेमैटोग्रॉफर का मिला

नॉक नॉक नॉक के लिए बेस्ट डायरेक्ट सुधांशु सरिया

बेस्ट अनिमेशनल फिल्म- राधा

बेस्ट नॉन फीचर फिल्म- एन इजीनियर्ड ड्रीम, हेमंत गाबा द्वारा प्रोड्यूस की हुई

फीचर फिल्म के लिए अवॉर्ड का ऐलान

स्पेशल मेंशन- बिरियानी (मलयालम), जोनाकि पोरवा (असमिया), लता भगवानकरे (मराठी), पिकासो (मराठी) 

बेस्ट हरियाणवी फिल्म- छोरियां छोरों से कम नहीं

बेस्ट छत्तीगढ़ी फिल्म- भुलन दी मेज

बेस्ट तेलुगु फिल्म- जर्सी

बेस्ट तमिल फिल्म- असुरन

बेस्ट पंजाबी फिल्म- रब दा रेडियो 2

बेस्ट मलियाली फिल्म- कला नोत्तम

बेस्ट मराठी फिल्म- बारडो

बेस्ट हिंदी फिल्म- छिछोरे

बेस्ट फीमेल प्लेबैक- सावनी रवींद्र को फिल्म बारदो के गाने रान बेटल

बेस्ट मेल प्लेबैक- पी प्राक को फिल्म केसरी के गाने तेरी मिट्टी

बेस्ट एक्ट्रेस- कंगना रनौत को फिल्म पंगा और मणिकर्णिका

बेस्ट एक्टर- मनोज बाजपेयी को फिल्म भोसले, फिल्म असुरन के लिए अभिनेता धनुष

बेस्ट डायरेक्टर- संजय पूरे सिंह चौहान को भट्टर हूरेन 

बेस्ट पॉप्युलर फिल्म- महर्षि

इंदिरा गांधी अवॉर्ड फॉर बेस्ट डेब्यू फिल्म ऑफ ए डायरेक्टर- हेलन (मलयालम) 

बेस्ट फीचर फिल्म- मलयाली फिल्म Marakkar Arabikkadalinte- SimHam को मिला

कोरोना की वजह से टल गए थे अवॉर्ड

इस इवेंट को नेशनल मीडिया सेंटर में आयोजित किया गया है, जहां पर राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों की घोषणा शुरू हो गई है। इसे लेकर पूरी जानकारी पीआईबी के सोशल मीडिया एकाउंट पर साझा की गई है। ये समारोह इससे पहले कोरोना महामारी के कारण टाल दिया गया था। आज 2019 में बनी फिल्मों के लिए पुरस्कारों की घोषणा की जा रही है।

2020 में होना था ऐलान

67वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों की घोषणा पहले साल 3 मई 2020 को होनी थी। लेकिन इसे कोरोना महामारी के कारण पैदा हुए हालातों की वजह से टालना पड़ा था। बता दें कि  पुरस्कारों के लिए आखिरी एंट्री 17 फरवरी 2020 तक ही रखी गई थी। इसके लिए जो क्राइटेरिया रखा गया है उसमें जिन फिल्में  Central Board of Film Certification द्वारा 1 जनवरी 2019 से लेकर 31 दिसंबर 2019 तक सर्टिफाइड किया गया है, उनकी ही एंट्री पुरस्कार वितरण के लिए की गई है।

सिक्कम को सबसे सिनेमा फ्रेंडली राज्य का सम्मान दिया गया। इसका ऐलान शाजी एन करण ने किया। शैबाल चैटर्जी बेस्ट बुक ऑन सिनेमा- A Gandhian Affair: India's Curious Portrayal of Love in Cinema 

बेस्ट सिनेमा क्रिटिक- सोहिनी चट्टोपाध्याय