रिटायरमेंट की प्लानिंग कर रहे हैं तो ये गलतियां पड़ेंगी भारी, इनसे बचिए

रिटायर होने वाला व्यक्ति कई तरह से अपनी भविष्य की योजनाएं बनाता है। नौकरी के दौरान कार खरीदना, घर खरीदना, वाहन खरीदना या किसी विशेष उद्देश्य के लिए निवेश करना एक निश्चित प्लानिंग है। रिटायरमेंट में कई फैक्टर शामिल होते हैं, जैसे कि निवेश किए गए पैसे, निवेश का कार्यकाल। रिटायरमेंट  की योजना बनाते समय ज्यादातर लोग अक्सर गंभीर गलतियां, जिसकी वजह से मन चाहा रिजल्ट नहीं मिल पाता है। हम ऐसी ही कुछ बिन्दुओं का जिक्र कर रहे हैं, जिनके बारे में आपको ध्यान देने की जरुरत है...

रिटायरमेंट  के लिए बिल्कुल भी बचत नहीं

अक्सर लोग अपनी रिटायरमेंट  के लिए बचत नहीं करते हैं, उन्हें यह लगता है कि पीपीएफ और बीमा उस वक्त फायदेमंद होंगे। इसलिए आपको सक्रिय रहने और रिटायरमेंट  की योजना बनाने की आवश्यकता है। आपकी आय के एक छोटे से हिस्से को बचाने से आपकी रिटायरमेंट  में योगदान होता है।

बिना किसी योजना के बचत

निवेश की योजना के बिना सबसे बड़ी निवेश गलतियों में से एक बचत है। जब भी बचत करें तो यह कोशिश रहे कि निवेश की कोई योजना हो, इसका फायदा आपको लंबे समय बाद मिलेगाबहुत देर से बचत की शुरुआत

अपनी रिटायरमेंट  के लिए बचत में देरी एक और गलती है। बचत की आदत शुरू से ही होनी चाहिए। कोशिश रहे कि कमाई की शुरुआत से ही बचत की आदत रहे। रिटर्न सुनिश्चित करने के लिए पहली नौकरी से ही बचत की शुरुआत करें। 

कर्ज से बचें

स्थिर आय नहीं होने पर कर्ज होना एक गंभीर चिंता का विषय है। इसलिए बुनियादी जरूरतों जैसे होम लोन के लिए कर्ज लें। सुनिश्चित करें कि आपकी EMI इस तरह से हो कि आप अपने कर्जों का भुगतान करें और रिटायर होने से पहले कर्ज मुक्त हो जाएं।

ADVERTISEMENT