Jio की बादशाहत को खतरा, Elon Musk की एंट्री से बदल जाएगी इंटरनेट की दुनिया, होंगे ये बड़े बदलाव

भारतीय टेलिकॉम इंडस्ट्री पर मौजूदा वक्त में देश के सबसे अमीर शख्स मुकेश अंबानी की कंपनी Reliance Jio का दबदबा है,  जिसे दुनिया के सबसे अमीर शख्स एलन मस्क (Elon Musk) की तरफ से जोरदार टक्कर मिल सकती है। दरअसल Elon Musk की कंपनी स्पेस एक्सप्लोरेशन टेक्नोलॉजीज कॉरपोरेशन (SpaceX) स्टारलिंक प्रोजेक्ट के भारत में आने की उम्मीद है। जिसके बाद भारतीय टेलिकॉम इंडस्ट्री में बड़े बदलाव देखे जाएंगे। SpaceX कंपनी भारत में शुरुआती तौर पर 100 Mbps सैटेलाइट बेस्ड इंटरनेट सर्विस के साथ उतरने की कोशिश कर रही है। कंपनी 1 ट्रिलियन डॉलर मार्केट के साथ भारत और चीन जैसे देशों में अपनी सर्विस शुरू कर सकती है। 

सरकार से Elon Musk ने मांगी इजाजत 

Analyticsindiamag वेबसाइट के मुताबिक Elon Musk ने भारत सरकार से सैटेलाइट बेस्ड ब्रॉडबैंड टेक्नोलॉजी को भारत में संचालन की इजाजत मांगी है। टेलिकॉम रेग्युलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने भारत में ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी को बढ़ावा देने के लिए पिछले साल अगस्त में एक कंसल्टेशन पेपर जारी किया था। इसके जवाब में SpaceX की सैटेलाइट गवर्नमेंट अफेयर्स पैट्रीशिया कूपर ने कहा कि स्टारलिंक के हाई स्पीड सैटेलाइट नेटवर्क से भारत के सभी लोगों को ब्रॉडबैंक कनेक्टिविटी से जोड़ने के लक्ष्य में मदद मिलेगी।

क्या होगा फायदा 

भारत इंटरनेट यूजर का बड़ा मार्केट है, जहां 700 मिलियन इंटरनेट सब्सक्राइबर्स हैं। इनकी संख्या साल 2025 तक बढ़कर 974 मिलियन होने की उम्मीद है। भारत में मौजूदा औसत इंटरनेट स्पीड 12 Mbps है। हालांकि 5G के आने से भारत में इंटरनेट स्पीड बढ़ने की उम्मीद है। लेकिन गांव और दूर-दराज के इलाकों में फास्ट इंटरनेट सर्विस पहुंचने में वक्त लग सकता है। लेकिन इस काम को SpaceX के स्टारलिंक प्रोजेक्ट से जल्द पूरा किया जा सकता है। इससे 150 Mbps तक की स्पीड मुहैया करायी जाती है। साथ ही यह सर्विस कम कीमत में उपलब्ध रहेगी। बता दें कि दूरदराज के इलाकों में फाइबर ऑप्टिक कैबल को बिछाना काफी महंगा पड़ता है। ऐसे में Elon Musk की सैटेलाइट बेस्ड इंटरनेट सर्विस की मदद से इसे सस्ते में कम समय में पुहंचाया जा सकता है।  

क्या है Starlink 

Starlink एक पृथ्वी की निचली कक्षा में घूमने वाली सैटेलाइट सर्विस है, जो ब्रॉडबैंड इंटरनेट कनेक्शन उपलब्ध कराती है। इस सर्विस से देश के दूर-दराज इलाकों में अच्छी इंटरनेट सर्विस को पहुंचाया जा सकेगा। इसके लिए कंपनी ने करीब 1,000 सैटेलाइट को लॉन्च किया गया है। साथ ही SpaceX तेजी से सैटेलाइट की संख्या में इजाफा कर रही है। कंपनी साल 2027 तक 12,000 डेस्क साइज सैटेलाइट लॉन्चिंग की तैयारी कर रही है। साथ ही जमीनी स्तर पर स्टेशन को इंस्टॉल कर रही है। SpaceX के मुताबिक उसकी इंटरनेट की स्पीड 50Mbps से 150Mbps के बीच होगी।

ADVERTISEMENT