शराबबंदी की सियासत में कूदे जीतन राम मांझी के बेटे


हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जीतन राम मांझी के पुत्र और बिहार सरकार के मंत्री डॉ. संतोष कुमार सुमन ने जमुई में शराबबंदी पर बयान देते हुए कहा है कि इस मामले में नेताओं का अपना अलग मत हो सकता है, लेकिन बिहार में पूर्ण शराबबंदी कुछ छिटपुट घटनाओं को छोड़कर पूर्णत: सफल है. साथ ही कहा कि कुछ इस तरह के लोग हैं जो ऐसे कदम को नुकसान पहुंचाते हैं. मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार का यह कदम बहुत ही अच्छा है और इससे हमारे समाज में बहुत बदलाव आया है.
 

सुमन ने कहा कि मैं जिस समाज से आता हूं, वहां तो बहुत बुरा हाल था, लेकिन शराबबंदी से बहुत बदलाव किया और अब बच्चे पढ़ना चाहते हैं. यही नहीं, अब बच्चे अपने से बड़े को शराब के सेवन से मना करते हैं. हालांकि नीतीश कुमार के शराबबंदी कानून पर विपक्ष लगातार हमले बोल रहा है. यही नहीं, हाल ही में जीतन राम मांझी और मुकेश सहनी ने भी सरकार के इस कदम पर सवाल उठाए हैं, जोकि बिहार में एनडीए का हिस्‍सा हैं.

बिहार सरकार में मंत्री डॉ. संतोष कुमार सुमन ने कहा कि नीतीश कुमार के इस फैसले से बहुत बदलाव आया है. बच्चों की संख्या स्कूलों में बढ़ी है जिसमें शराबबंदी का भी बहुत बड़ा सहयोग है. इसके साथ उन्‍होंने सीएम की शराबबंदी का समर्थन करते हुए कहा कि समाज में कुछ ऐसे लोग भी होते हैं जिस कारण इस तरह के अभियान पर असर पड़ता है, लेकिन कानून अपना काम कर रहा है और लोग दंडित भी हो रहे हैं. साथ ही उन्‍होंने कानून तोड़ने वालों को कठोर सजा देने का समर्थन किया है.