अच्छी खबर : बीएमपी व पुलिस के जवानों को अब गया में होगी ट्रेनिंग की सुविधा


13 करोड़ की लागत से बन रहा रीजनल ट्रेनिंग सेंटर - बीएमपी-03 कैंपस में बन रहे तीन भवन मार्च तक हो जाएंगे पूर्ण - एक साथ 500 से अधिक जवानों को चलेगी क्लास - वही 1000 जवानों को आवासीय सुविधा भी मिलेगी - ट्रेनिंग कराने वाले अधिकारियों के लिए बनाए गए हैं प्रशासकीय भवन - 13 करोड़ की लागत से 3 भवन का हो रहा निर्माण

राजेश/सूरज 

गया। गया-डोभी रोड स्थित बीएमपी 3 कैंपस में रिजनल ट्रेनिंग सेंटर का निर्माण अब अंतिम चरण में है। जो मार्च के अंतिम सप्ताह तक पूर्ण हो जायेगा।ऐसे में जिला के लोगों के लिए यह अच्छी खबर है कि इसका निर्माण होने से ना सिर्फ बीएमपी के जवानों का अपितु पुलिस पुलिस के जवानों की भी यहां ट्रेनिंग दी जायेगी।
 
13 करोड़ की लागत से तीन भवन का हो रहा निर्माण 
बिहार पुलिस भवन निर्माण निगम द्वारा बनाये जा रहे इन तीन भवनों में करोड़ो रूपये खर्च हो रहे है।भवन निर्माण विभाग के एसडीओ सतेन्द्र प्रसाद ने बताया कि एक क्लास रूम के लिए भवन दूसरा एक हजार जवानों के आवासीय सुविधा के साथ बनने वाले बैरक व प्रशासकीय भवन के निर्माण व इससे संबंधित पथ के निर्माण करीब 13 करोड़ की राशि से किया जा रहा है।


44 कमरे व एक कांफ्रेंस हॉल की भी सुविधा 
यहां एक हजार जवानो की रहने की क्षमता का एक बैरक बनाया गया है। दो मंजिला बैरक में 44 कमरे है। साथ ही एक कांफ्रेस हॉल की भी सुविधा रहेगी। इसके अलावे 400 जवान एक साथ क्लास कर सकते है। इसके लिए अलग एक बिल्डिंग बनायी गयी है। यहां 6 बड़े कमरों का क्लास रूम है। एक कमरे में 70 से 75 जवान एक साथ क्लास कर सकते है। इसके अलावे एक प्रशासकीय भवन का भी निर्माण कराया गया है। जहां प्रशिक्षक व अन्य अधिकारी रहेगें।

सुशील कुमार,  कमांडेंट बीएमपी-03, गया
सुशील कुमार,  कमांडेंट बीएमपी-03, गया

कहते है कमांडेंट 
रिजनल टेर्निंग सेंटर बन जाने से बीएममपी के जवान के अलावे पुलिस के जवान भी यहां प्रशिक्षण प्राप्त कर सकेगें। उम्मीद है कि यह तीनों भवन मार्च के अंतिम सप्ताह में पूर्ण हो जायेगें। ऐसे तो फरवरी माह में ही इसे पूर्ण करने की अवधि थी। लेकिन कोरोना काल में थोड़ा बिलंब हो गया है। इस तरह के ट्रेनिंग सेंटर यहां के अलावे बीएमपी-02, बीएमपी 13, बीएमपी-04 में भी है।