मगध जोन में जातीय व सामप्रदायिक हिंसा ना हो यही हमारी प्राथमिकता : आईजी

युवा शक्ति संवाददाता 

-----------------------------------

-महत्वपूर्ण अपराधिक गिरोह को चिन्हित कर करे कार्रवाई 

-गया जिला के एसएसपी सहित पांच जिलों के एसपी के साथ की बैठक

-गांजा चरस अफीम की खेती पर  कार्रवाई तेज करने का दिया निर्देश

-पांचों जिले के अपराधिक व नक्सली घटनाओं की समीक्षा की

गया। प्रो एक्टिव बने पुलिस घटना के बाद तो कार्रवाई तेज कर अपराधी को गिरफ्तार कर ही लिया जाता  है।  लेकिन अगर हम पहले से तैयार रहे तो इस तरह की घटनाओं में कमी आ सकती है। किसी भी पर्व त्योहार के आने पर जो हम तैयारी करते है वह 15 से 20 दिन पहले हम तैयारी करेगें। जिससे कि हमे फायदा मिले। उक्त बाते शुक्रवार को पुलिस महानिरीक्षक मगध रेंज अमित लोढा अपने कार्यालय में समीक्षा बैठक के दौरान कही। उन्होने कहा कि मगध जोन में किसी तरह के सामप्रदायिक व जातीय तनाव ना हो यह हमारी प्राथमिकता है।  इसके साथ यहां के ऐतिहासिक धरोहर जैसे महाबोधि मंदिर,या अन्य स्थानों की सुरक्षा की भी समीक्षा की गयी है। इसके अलावे नक्सली घटनाओं की भी समीक्षा की गयी।  अपराधिक घंटनाओं पर अंकुश लगाने व अराधियों पर कार्रवाई को लेकर बैठक में गया के वरीय पुलिस अधीक्षक आदित्य कुमार के अलावे नवादा , जहानाबाद, अरवल व औरंगाबाद के एसपी शामिल हुये।

पावर प्वाइंट प्रजेन्टेशन के माध्यम से अपराधिक घटनाओं की ली जानकारी

बैठक में जिलावार महत्वपूर्ण समस्याएँ, उपलब्ध संसाधन, अपराध एवं अपराधियों की स्थिति समेत महत्वपूर्ण बिन्दुओं पर पावर प्वाइंट प्रजेन्टेशन के माध्यम से जानकारी ली। जिले में अपराध की सामान्य स्थिति, महत्वपूर्ण अपराधिक गिरोहों तथा उनके सक्रिय सदस्यों के बारे में जानकारी लेकर उनके विरूद्ध कार्रवाई का निर्देश दिया । 

मादक पदार्थो के खेती पर कार्रवाई तेज करें

आईजी ने बैठक में गांजा, चरस एवं अफीम की खेती के विरुद्ध अभियान चलाने का निर्देश दिया विभिन्न अवसरों पर पूर्व में उत्पन्न गम्भीर विधि-व्यवस्था समस्या की समीक्षा कर संवेदनशील स्थान एवं अवसरों की पहचान करते हुए उक्त समस्या उत्पन्न करने वाले मुख्य तत्वों की पहचान कर कड़ी कार्रवाई करने का निर्देश दिया ताकि समस्या उत्पन्न न हो।

फरियादियों की समस्या सुन यथासंभव कार्रवाई करें

उन्होने निर्देश दिया कि पीड़ित व्यक्ति या कार्यालय में आने वाले सभी व्यक्तियों से मुलाकात कर यथा सम्भव समस्या का निराकरण करें। गम्भीर श्रेणी के अपराधों की समीक्षा कर इनके रोकथाम की कार्रवाई करें व पूर्व से लम्बित ऐसे सभी काण्डों के निष्पादन शीघ्र करें।

समीक्षा के उपरान्त गैर कानूनी खनन को रोकने तथा मद्यनिषेद्य को कड़ाई से लागू करने तथा इसमें संलिप्त अपराधकर्मियों/तत्वों के विरुद्ध अभियान चलाकर कार्रवाई हेतु तथा सरकार की वर्तमान अन्य प्राथमिकताओं के सम्बन्ध में कड़ाई से अनुपालन करने का निर्देश दिया गया।

प्रत्येक जिले में रूटीन वर्क के अलावे कुछ अलग करे पुलिस 

पुलिस का जो रूटीन वर्क है वो तो करना ही है। इसके अलावे कुछ अच्छी पहल करें। जिससे  कि  पुलिस के स्तर से कुछ ऐसे अच्छे पहल करने हेतु निर्देशित किया गया। जिससे पुलिस की कार्यशैली में पारदर्शिता आए। समाजिक स्तर पर सुधार दिखे तथा पुलिस कर्मियों का मनोबल बना रहे।प्रो एक्टिव बने पुलिस घटना के बाद तो कार्रवाई तेज कर अपराधी को गिरफ्तार कर ही लिया जाता  है।  लेकिन अगर हम पहले से तैयार रहे तो इस तरह की घटनाओं में कमी आ सकती है। किसी भी पर्व त्योहार के आने पर जो हम तैयारी करते है वह 15 से 20 दिन पहले हम तैयारी करेगें। जिससे कि हमे फायदा मिले। उक्त बाते शुक्रवार को पुलिस महानिरीक्षक मगध रेंज अमित लोढा अपने कार्यालय में समीक्षा बैठक के दौरान कही। उन्होने कहा कि मगध जोन में किसी तरह के सामप्रदायिक व जातीय तनाव ना हो यह हमारी प्राथमिकता है।  इसके साथ यहां के ऐतिहासिक धरोहर जैसे महाबोधि मंदिर,या अन्य स्थानों की सुरक्षा की भी समीक्षा की गयी है। इसके अलावे नक्सली घटनाओं की भी समीक्षा की गयी।  अपराधिक घंटनाओं पर अंकुश लगाने व अराधियों पर कार्रवाई को लेकर बैठक में गया के वरीय पुलिस अधीक्षक आदित्य कुमार के अलावे नवादा , जहानाबाद, अरवल व औरंगाबाद के एसपी शामिल हुये।

पावर प्वाइंट प्रजेन्टेशन के माध्यम से अपराधिक घटनाओं की ली जानकारी

बैठक में जिलावार महत्वपूर्ण समस्याएँ, उपलब्ध संसाधन, अपराध एवं अपराधियों की स्थिति समेत महत्वपूर्ण बिन्दुओं पर पावर प्वाइंट प्रजेन्टेशन के माध्यम से जानकारी ली। जिले में अपराध की सामान्य स्थिति, महत्वपूर्ण अपराधिक गिरोहों तथा उनके सक्रिय सदस्यों के बारे में जानकारी लेकर उनके विरूद्ध कार्रवाई का निर्देश दिया । 

मादक पदार्थो के खेती पर कार्रवाई तेज करें

आईजी ने बैठक में गांजा, चरस एवं अफीम की खेती के विरुद्ध अभियान चलाने का निर्देश दिया विभिन्न अवसरों पर पूर्व में उत्पन्न गम्भीर विधि-व्यवस्था समस्या की समीक्षा कर संवेदनशील स्थान एवं अवसरों की पहचान करते हुए उक्त समस्या उत्पन्न करने वाले मुख्य तत्वों की पहचान कर कड़ी कार्रवाई करने का निर्देश दिया ताकि समस्या उत्पन्न न हो।

फरियादियों की समस्या सुन यथासंभव कार्रवाई करें

उन्होने निर्देश दिया कि पीड़ित व्यक्ति या कार्यालय में आने वाले सभी व्यक्तियों से मुलाकात कर यथा सम्भव समस्या का निराकरण करें। गम्भीर श्रेणी के अपराधों की समीक्षा कर इनके रोकथाम की कार्रवाई करें व पूर्व से लम्बित ऐसे सभी काण्डों के निष्पादन शीघ्र करें।

समीक्षा के उपरान्त गैर कानूनी खनन को रोकने तथा मद्यनिषेद्य को कड़ाई से लागू करने तथा इसमें संलिप्त अपराधकर्मियों/तत्वों के विरुद्ध अभियान चलाकर कार्रवाई हेतु तथा सरकार की वर्तमान अन्य प्राथमिकताओं के सम्बन्ध में कड़ाई से अनुपालन करने का निर्देश दिया गया।

प्रत्येक जिले में रूटीन वर्क के अलावे कुछ अलग करे पुलिस 

पुलिस का जो रूटीन वर्क है वो तो करना ही है। इसके अलावे कुछ अच्छी पहल करें। जिससे  कि  पुलिस के स्तर से कुछ ऐसे अच्छे पहल करने हेतु निर्देशित किया गया। जिससे पुलिस की कार्यशैली में पारदर्शिता आए। समाजिक स्तर पर सुधार दिखे तथा पुलिस कर्मियों का मनोबल बना रहे।

ADVERTISEMENT