वित्त मंत्रालय में हुआ हलवा कार्यक्रम, आजादी के बाद पहली बार नहीं होगी बजट की छपाई

वित्त मंत्रालय द्वारा आज शनिवार को पारंपरिक हलवा कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इसके साथ ही पेपरलेस बजट 2021 के अंतिम चरण की शुरुआत हो गई है। इस आयोजन में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने भी भाग लिया। यह कार्यक्रम केंद्रीय बजट दस्तावेजों के प्रकाशन की प्रक्रिया की शुरुआत का द्योतक होता है। इसका आयोजन बजट पेश किए जाने से कुछ दिन पहले किया जाता है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण एक फरवरी को आगामी वित्त वर्ष का केंद्रीय बजट पेश करेंगी। 

सत्तर साल से भी अधिक पुराने इस अनुष्ठान में, हर साल एक विशाल कढाई में हलवा तैयार किया जाता है और बजट से लगभग 10 दिन पहले वित्त मंत्रालय के नॉर्थ ब्लॉक में पूरे स्टाफ को परोसा जाता है। हलवा कार्यक्रम के बाद सीधे बजट बनाने और इसकी मुद्रण प्रक्रिया से जुड़े बड़ी संख्या में अधिकारियों और सहायक कर्मचारियों को लोकसभा में वित्त मंत्री द्वारा बजट की प्रस्तुति तक अपने परिवार से दूर मंत्रालय में ही रहना होता है।

हालांकि, इस बार कोरोना महामारी को देखते हुए बजट की छपाई नहीं होगी, अर्थात इस बार का बजट पेपरलेस होगा। अधिकारियों ने बताया कि इस समारोह के बाद बजट निर्माण की प्रक्रिया में शामिल रहे कर्मचारियों को बजट पेश होने तक नॉर्थ ब्लॉक के बेसमेंट में रखा जाएगा। एक अधिकारी ने बताया, ''वे अधिकारी वित्त मंत्री के संसद में बजट पेश करने के बाद ही बेसमेंट से निकल सकते हैं। वार्षिक बजट पेश किए जाने से पहले किसी भी तरह की लीक से बचने के लिए ऐसा किया जाता है।''

वित्त मंत्री ने शनिवार को "Union Budget Mobile App" लॉन्च किया है। इस एप के माध्यम से सासंद और आम जनता बिना किसी परेशानी के बजट से जुड़े डॉक्यूमेंट्स पा सकेंगे। आजादी के बाद से पहली बार बजट की छपाई नहीं हो रही है। वित्त मंत्रालय ने ट्वीट कर बताया कि वित्त मंत्री द्वारा एक फरवरी, 2021 को संसद में बजट प्रस्तुत करने के बाद बजट दस्तावेज एप पर उपबल्ध होंगे। 

ADVERTISEMENT