झारखंड: सीएम पर रेप के आरोप को JMM ने बताया बदनाम करने की साजिश

 


झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन पर एक महिला ने रेप का आरोप लगाया है. राष्ट्रीय महिला आयोग (NCW) ने इस पर संज्ञान लिया है. NCW ने ट्वीट किया कि एक मॉडल ने आरोप लगाया है कि 2013 में उसके साथ रेप किया गया. बाद में उसके परिवार को घटना के बारे में सार्वजनिक तौर पर नहीं बोलने की धमकी दी गई. इस पूरे मामले के बाद अब हेमंत सोरेन की पार्टी झारखंड मुक्ति मोर्चा उनके बचाव में आ गई है. 

झारखंड हाई कोर्ट में एक याचिका भी दाखिल की गई है, जिसमें आरोप लगाया गया है कि ऐसा सरकार को अस्थिर करने के लिए किया जा रहा है. याचिकाकर्ता ने सीबीआई जांच की मांग की है. अपनी जनहित याचिका में जहान आरा ने दावा किया है कि 2013 के एक पुराने मामले को उछालकर सरकार की छवि खराब करने और उसे गिराने का अभियान चल रहा है. 

जेएमएम के महासचिव सुप्रियो भट्टाचार्य ने एनसीडब्ल्यू के खिलाफ कड़ी आपत्ति जताई है और कहा है कि एनसीडब्ल्यू की अध्यक्ष रेखा शर्मा हेमंत सरकार के खिलाफ साजिश का हिस्सा हैं. अगर वह किसी भी तरह की राजनीति में नहीं है, तो उन्होंने महाराष्ट्र पुलिस और डीजीपी से रिपोर्ट मांगे बिना आरोपों पर क्यों ट्वीट किया. उन्होंने कहा कि मामले को महराष्ट्र पुलिस ने पहले ही बंद कर दिया था.

सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा कि यह एक गंदी राजनीति है. चुनी हुई सरकार को गिराना बीजेपी का स्वभाव रहा है. वे महाराष्ट्र, राजस्थान में सफल नहीं हुए और उन्हें हम झारखंड में भी सफल नहीं होने देंगे.

भट्टाचार्य ने आगे कहा कि इसी तरह के प्रयास पहले भी बीजेपी सांसद निशिकांत दुबे और अन्य द्वारा शुरू किए गए थे. तब हेमंत सोरेन को रांची के सिविल कोर्ट में 100 करोड़ रुपये का मानहानि का मुकदमा दायर करने के लिए मजबूर होना पड़ा था. 


ADVERTISEMENT