सिलीगुड़ी नगर निगम क्षेत्र अंतर्गत पहले सप्ताह में कोरोना के सर्वाधिक मामले आए सामने


कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों जहां राष्ट्रीय स्तर पर भले ही प्रत्येक दिन कमी दर्ज की जा रही हो, लेकिन सिलीगुड़ी नगर निगम क्षेत्र अंतर्गत नवंबर के पहले सप्ताह में कोरोना वायरस के मामलों में बेतहासा वृद्धि दर्ज की गई। जहां कोरोना वायरस के नए मामलों में वृद्ध दर्ज की गई, वहीं इस महीने के पहले सप्ताह में अक्टूबर की अपेक्षा मौत के मामले भी ज्यादा सामने आए। इस महीने  कोरोना वायरस के बढ़ते मरीजों के साथ उनके परिजनों, प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग के लिए चिंतित करने वाली है।

अक्टूबर के महीने के प्रथम सप्ताह यानी सात दिनों के अंदर सिलीगुड़ी के दोनों कोविड-19 अस्पतालों, उत्तर बंगाल मेडिकल कॉलेज व अस्पताल तथा निजी अस्पतालों में मिलाकर कुल 23 मरीजों के मौत होने के मामला सामने आया था। यानी हर दिन तीन से ज्यादा मरीजों की मौत हुई थी। जबकि नवंबर के पहले सप्ताह में मौत के आंकड़ों में कुछ वृद्धि दर्ज की गई। इस महीने के पहले सात दिन मेंं 25 मरीजों के मौत का मामला दर्ज हुआ। इस महीने भी औसतन हर दिन तीन से ज्यादा मरीजों के मौत होने का मामला सामने आया है। एक ओर जहां कोरोना वायरस संक्रमित मरीजों के मौत मामलों में वृद्धि हुई है, वहीं कोरोना वायरस के नए मामलों में भी बेतहासा वृद्धि दर्ज की गई है। 

स्वास्थ्य विभाग द्वारा मिले आंकड़े के मुताबिक अक्टूबर महीने के पहले सप्ताह में 484 नए मामले दर्ज किए किए , यानी 69 कोरोना वायरस के नए मामले हर दिन सामने आ रहे थे। जबकि नवंबर महीने में एक सप्ताह के अंदर 497 मामले सामने आ चुके हैं। यानी हर दिन 70 से ज्यादा मामले सामने आए। यह मामले सिर्फ अक्टूबर महीने की अपेक्षा ज्यादा नहीं बढ़े हैं, बल्कि पिछले किसी भी महीने के किसी भी सप्ताह की अपेक्षा नवंबर के प्रथम सप्ताह में नगर निगम क्षेत्र अंतर्गत सर्वाधिक मामले दर्ज किए गए।

जिला प्रशासन द्वारा दिए गए आंकड़े के मुताबिक सिलीगुड़ी नगर निगम क्षेत्र के अलावा सिलीगुड़ी महकमा क्षेत्र में कोरोना वायरस के मामलों में बढ़ोत्तरी देखी गई। महकमा के माटीगाड़ा, नक्सलबाड़ी, फांसीदेवा व खोरीबारी प्रखंड तथा सुकना में अक्टूबर महीने में कोरोना वायरस के 381 मामले सामने आए थे, तो नवंबर महीने प्रथम सप्ताह में यह आंकड़ा बढ़कर 400 तक पहुंच गया। हालांकि इसी अवधि में पांच सौ से ज्यादा मरीजों ने कोरोना वायरस से जंग भी जीत चुके हैं, यानी कोरोना वायरस के संक्रमण के मुक्त हो चुके हैं।

इस बारे में उत्तर बंगाल में कोरोनावायरस के मामले को देखने के लिए राज्य सरकार द्वारा नियुक्त ऑफिसर ऑन स्पेशल ड्यूटी डॉ सुशील कुमार राय ने कहा कि कोरोना वायरस की जांच अधिक संख्या हो रही है। इससे नए मामलों में बढ़ोत्तरी देखी जा रही है। इसके अलावा उन्होंने कहा कि देखा जा रहा है कि लोग मास्क के उपयोग के प्रति लापरवाह होते जा जा रहे हैं। इसके लिए स्वास्थ्य विभाग की ओर से जागरूकता कार्यक्रम शुरू किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि कि जहां पिछले महीने दुर्गा पूजा संपन्न हुआ है। वही इस महीने काली पूजा, दीपावली तथा छठ पूजा का त्योहार है। लोगों को अपने स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहकर मास्क के बिना घर से नहीं निकलना चाहिए। वहीं शारीरिक दूरी बनाए रखें, इसका भी ध्यान रखना होगा। 


ADVERTISEMENT