बिहार चुनाव में बढ़ी शराब की तस्‍करी, सीमावर्ती इलाकों में सतर्कता और सख्‍ती बरतने के निर्देश

बिहार विधानसभा चुनाव के मद्देनजर दोनों प्रदेश के सीमावर्ती पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों की बैठक कुशीनगर के रायल रेजीडेंसी होटल में हुई। बैठक में दोनों प्रदेशों के आबकारी आयुक्त मौजूद रहे। इसमें उत्तर प्रदेश से होकर बिहार तस्करी की जा रही हरियाणा व अन्य राज्यों से निर्मित देशी व विदेशी शराब की तस्करी रोकने प्रभावी रणनीति तय की गयी। 

दोनों राज्य साझा रणनीति के तहत यह काम करेंगे। दोनों प्रदेशों के आबकारी आयुक्त शराब तस्करी की सूचनाओं का आदान प्रदान करेंगे। यदि यूपी की किसी दुकान से बिहार शराब भेजी गयी तो उसका लाइसेंस सस्पेंड कर दिया जाएगा। चुनाव के दौरान दोनों प्रदेश मिलकर अपराधियों पर सख्ती बरतेंगे। शुक्रवार को हुई बैठक की अध्यक्षता उत्तर प्रदेश के आबकारी आयुक्त पी गुरुप्रसाद ने की। इसमें बिहार के आबकारी आयुक्त विनोद सिंह गुंज्याल, गोरखपुर के आयुक्त जयंत नार्लीकर भी मौजूद रहे। 

बैठक में चर्चा हुई कि हरियाणा निर्मित देशी या विदेशी शराब बिहार में अवैध तरीके तस्करों के माध्यम से जाती है। उसका 60 प्रतिशत हिस्सा नेशनल हाइवे व 28 फोरलेन से होकर जाता है। शेष नदी, पगडंडी रास्ते आदि के माध्यम से जाता है। इसको लेकर साझा रणनीति के तहत दोनों राज्यों के सीमाई प्रशासन मिलकर बैरियर व अन्य छुपे रास्तों के जरिये बिहार भेजी जा रही तस्करी की शराब पर प्रभावी अंकुश लगाएंगे। बैठक में तय हुआ कि यूपी का आबकारी विभाग, पुलिस व प्रशासन बिहार के समकक्ष विभागों को पूरा सहयोग करेगा। रणनीति के तहत कुशीनगर के पनियहवा, तमकुहीराज में आबकारी बैरियर बना दिए गए हैं। मोबाइल दस्ता गठित कर दिया गया है जो सीमावर्ती क्षेत्र में गश्त कर रहा है। 

इसके अलावा नदी में नाव चला रहे नाविकों से बैठक कर उनको जागरूक किया जा रहा है। किसी भी सूरत में वह शराब लेकर नदी के रास्ते बिहार न जाएं व ऐसा करने वालों की सूचना तत्काल पुलिस को दें। सीमावर्ती इलाकों में शराब के लाइसेंसी दुकान बिहार चुनाव के दौरान लिमिट से पांच प्रतिशत से अधिक शराब बेच नहीं पाएंगे। चुनाव के दौरान आपराधिक गतिविधियां बढ़ जाती हैं। इसको लेकर तय हुआ कि दोनों राज्य के सीमावर्ती जिले अपने अपने जिलों के अपराधियों की सूची का आदान प्रदान करेंगे। सभी मिलकर अपराधियों पर नजर रखेंगे। अगर यूपी का अपराधी बिहार में या बिहार का अपराधी यूपी में है तो उसे पकड़कर सम्बंधित जिले की पुलिस को सौपेंगे। 

इन जिलों के अफसर करेंगे साझा रणनीति पर काम

बैठक में महरागंज, कुशीनगर, देवरिया, सिवान, गोपालगंज के अलावा आबकारी विभाग के बड़े अधिकारियों ने तय किया वह मिलकर साझा रणनीति पर काम करेंगे। मंडल के अधिकारी मॉनीटरिंग करेंगे। बैठक में जिलाधिकारी कुशीनगर भूपेन्द्र एस चौधरी, एसपी विनोद कुमार सिंह, सीवान के एसपी अभिनव कुमार, गोपालगंज के एसपी मनोज कुमार तिवारी, देवरिया के डीएम अमित किशोर, एसपी श्रीपति मिश्र, महराजगंज डीएम डॉ. उज्ज्वल कुमार, एसपी प्रदीप गुप्ता, संयुक्त आबकारी आयुक्त गोरखपुर जोन अरुण शुक्ला, अपर आबकारी आयुक्त आरके सिन्हा,  अपर आबकारी आयुक्त दिव्य प्रकाश, संयुक्त आबकारी आयुक्त प्रयागराज महेंद्र सिंह, डीओ कुशीनगर राजवीर सिंह, डीओ देवरिया अश्वनी कुमार, डीओ महराजगंज  आरके सिंह, प्रभारी निरीक्षक रामअशीष यादव, लेखपाल बृजेश मणि त्रिपाठी आदि उपस्थित रहे।


ADVERTISEMENT