West Bengal : बंगाल के भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष के काफिले पर पथराव

बंगाल के भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष को शनिवार को पूर्व बर्धमान जिले में काले झंडे दिखाए गए और सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के समर्थकों द्वारा कथित रूप से उनके काफिले पर पथराव किया गया। हालांकि, तृणमूल कांग्रेस ने आरोपों को खारिज किया है। यह घटना उस समय हुई, जब घोष किसानों से नए कृषि कानूनों के बारे में बातचीत के लिए जमालपुर क्षेत्र पहुंचे थे।

एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि दोनों दलों के समर्थक आपस में भिड़ गए, जिसके चलते हालात को काबू करने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा। घोष ने कहा, ''जैसे ही मेरा काफिला जमालपुर पहुंचा, मुझे काले झंडे दिखाए गए और तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने मेरे काफिले पर पथराव किया, जो अपनी पार्टी के झंडे लिए हुए थे। तृणमूल कांग्रेस लोकतंत्र में भरोसा नहीं करती और यह इसका प्रतिबिंब भर है।''

उन्होंने कहा, ''मैं ऐसी घटनाओं का आदि हूं लेकिन राज्य की जनता इन्हें माकूल जवाब देगी।'' वहीं, तृणमूल कांग्रेस के स्थानीय नेताओं ने आरोपों को खाारिज करते हुए कहा कि किसानों ने ''कृषि कानूनों का विरोध किया, जो उनके हितों के खिलाफ है।'

जमालपुर में भाजपा-तृकां समर्थकों में झड़प, पत्थरबाजी

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सह सांसद दिलीप घोष शनिवार को पूर्व व‌र्द्धमान जिले के दौरे पर थे। जिले के जमालपुर साहापुर में भाजपा की सभा शनिवार संध्या समय थी। जब वे उस सभा में जा रहे थे, उस वक्त रास्ते में तृकां समर्थकों ने उन्हें काला झंडा दिखाया। जिसे लेकर विवाद शुरू हुआ एवं पुलिस के सामने ही भाजपा व तृकां समर्थक उलझ गए। पुलिस ने बल प्रयोग करते हुए स्थिति को नियंत्रित किया।

हालांकि घटना से काफी तनाव देखा गया। संध्या समय भाजपा प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष का काफिला साहापुर जा रहा था। जिसकी जानकारी मिलने पर तृकां समर्थक जमालपुर के जौग्राम के समीप काला झंडा लेकर जुट गए। जब प्रदेश अध्यक्ष का काफिला गुजरने लगा तो उनलोगों ने काला झंडा दिखाया। उसी समय भाजपाइयों के साथ तृकां समर्थकों का विवाद शुरू हो गया एवं दोनों ओर से पत्थरबाजी शुरू कर दी गई। दोनों दलों के कार्यकर्ताओं ने एक-दूसरे के साथ मारपीट की। जिसके बाद पुलिस ने बल प्रयोग करते हुए स्थिति को नियंत्रित किया।

भाजपा के जिला उपाध्यक्ष रमन शर्मा ने कहा कि पुलिस के सामने भाजपाइयों पर हमला किया गया, उनलोगों ने पत्थरबाजी की। पुलिस ने भी उन्हें रोकने की कोशिश नहीं की। भाजपाइयों के वाहनों में भी तोड़फोड़ की गई।

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने तृकां के इशारे पर पुलिस द्वारा कार्रवाई करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि पूरे बंगाल में तृकां राजनीतिक कार्यक्रम कर रही है। लेकिन भाजपा जब राजनीतिक कार्यक्रम करने जाती है तो कानून दिखाया जाता है, उसमें बाधा दी जाती है। यहां तक की भाजपाइयों पर केस भी दर्ज किया जाता है। पुलिस महिला कर्मियों पर भी केस देती है। कोलकाता में पुलिस ने हमें रोका, मारा, गाड़ी तोड़ी व गिरफ्तार किया। राज्य में अलोकतांत्रिक परिवेश के खिलाफ भाजपा लड़ाई लड़ रही है। 


ADVERTISEMENT