दिल्ली में दोबारा क्यों बढ़ रहे हैं कोरोना वायरस के मामले, स्वास्थ्य मंत्री ने दिया ये जवाब


राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस से संक्रमण के मामले फिर से बढ़ने लगे हैं. दिल्ली में बढ़ते मामलों को लेकर राज्य के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा है कि 4 सितंबर को दिल्ली में 2914 पॉजिटिव केस मिले हैं. 1791 रिकवर हुए और 13 मरीजों की मौत हुई है. उन्होंने कहा कि दिल्ली में पिछले एक हफ्ते में टेस्टिंग डबल हो गई है.

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि पहले 16 से 17 हजार लोगों की टेस्टिंग हो रही थी. 4 सितंबर को 37 हजार टेस्टिंग हुई है. उन्होंने कहा कि दिल्ली में पॉजिटिविटी रेट नहीं बढ़ रहा है. नेशनल लेवल पर पॉजिटिविटी रेट 7.30 फीसदी के करीब है. दिल्ली में भी पॉजिटिविटी रेट 8 फीसदी के आसपास है. स्वास्थ्य मंत्री ने लोगों से नियमों का पालन करने की अपील की है.

दिल्ली के अस्पतालों में मरीजों की संख्या को लेकर सत्येंद्र जैन ने कहा कि कोरोना का उपचार कराने के लिए भर्ती कुल मरीजों में से एक तिहाई दूसरे राज्यों के हैं. कुछ निजी अस्पतालों में बेड फुल हैं. उनमें 60 से 70 फीसदी मरीज दिल्ली से बाहर के हैं. उन्होंने कहा कि हम पहले ही अस्पताल की ऑक्यूपेसी 80 फीसदी लेकर चलते हैं, इसलिए 14 हजार बेड का इंतजाम किया गया है.

क्या दिल्ली के लोगों के लिए बेड्स रिजर्व रखे जाएंगे? इस सवाल पर केजरीवाल सरकार में स्वास्थ्य मंत्री ने कहा है कि ऐसा कुछ नहीं है. हमने काफी बड़े स्तर पर इंतजाम कर लिए हैं. काफी बेड खाली पड़े हैं. दिल्ली के अस्पतालों में उपचार कराने बाहर के लोगों के आने पर उन्होंने कहा कि इससे पड़ोसी राज्यों की स्वास्थ्य व्यवस्था पर सवाल उठते हैं.

दिल्ली में पीक को लेकर पूछे गए सवाल पर स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि इसे लेकर कोई कयास लगाना मुमकिन नहीं है. उन्होंने कहा कि पहले 10 हजार टेस्टिंग में 4000 केस आए थे. अब 40 हजार टेस्टिंग हो गई है. गौरतलब है कि दिल्ली में कोरोना के मरीजों की तादाद फिर से बढ़ने लगी है.

ADVERTISEMENT