बंगाल भाजपा का राज्यपाल से अनुरोध, कृषि विधेयकों का लाभ किसानों को दिलाने के लिए कदम उठाएं


बंगाल भाजपा के नेताओं ने राज्यपाल जगदीप धनखड़ से मुलाकात कर उनसे अनुरोध किया कि राज्य के किसानों को कृषि विधेयकों का लाभ मिले, यह सुनिश्चित करने के लिये कदम उठाएं। राज्यपाल को सौंपे एक ज्ञापन में भाजपा ने दावा किया कि सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस किसानों को सशक्त बनाने के लिये संसद द्वारा पारित तीनों विधेयकों पर लोगों को गुमराह कर रही है।

तृणमूल कांग्रेस ने भाजपा के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार पर कृषि क्षेत्र से संबंधित विधेयकों को पारित करने को लेकर निशाना साधा है। टीएमसी ने आरोप लगाया कि “किसान विरोधी” कानून बड़े कॉरपोरेट घरानों की मदद करेंगे और देश को खाद्यान्न संकट की ओर लेकर जाएंगे।

राज्य में आलू के बढ़ते दामों का जिक्र करते हुए भाजपा के ज्ञापन में दावा किया गया कि सत्ताधारी दल के गुंडे बिचौलियों पर नियंत्रण रख रहे हैं और किसानों की आय को लूट रहे हैं।

ज्ञापन में कहा गया, “पश्चिम बंगाल में किसान बुरी हालत में हैं। इनमें से 90 प्रतिशत किसान छोटे खेत वाले हैं और उनकी जीवन बिचौलियों की दया पर निर्भर है जिन्हें सत्ताधारी पार्टी के गुंडे नियंत्रित करते हैं।” भाजपा प्रतिनिधिमंडल ने कहा कि राज्य सरकार किसानों के लिये फायदेमंद केंद्र सरकार के कार्यक्रमों को लागू नहीं करती है क्योंकि उनसे जुड़े लाभ सीधे लोगों के खातों में जाने की वजह से सत्ताधारी दल को अपना हिस्सा या अवैध दलाली नहीं मिल पाएगी।  राज्यपाल को सौंपे एक ज्ञापन में भाजपा ने दावा किया कि सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस किसानों को सशक्त बनाने के लिये संसद द्वारा पारित तीनों विधेयकों पर लोगों को गुमराह कर रही है।


ADVERTISEMENT