सुशांत केस: बिहार के IG की BMC को चिट्ठी- अफसर को जाने दें, जांच हो रही प्रभावित


फिल्म अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या मामले की जांच में मुंबई और बिहार पुलिस आमने-सामने है. बीते दिनों पटना सिटी एसपी विनय तिवारी जब जांच की अगुवाई करने के लिए मुंबई पहुंचे तो उन्हें क्वारनटीन में भेज दिया गया. इस मसले पर जारी विवाद के बीच अब पटना रेंज के IGP संजय सिंह ने बीएमसी को लेटर लिखा है.

IGP संजय सिंह की ओर से अपील की गई है कि BMC तुरंत विनय तिवारी को क्वारनटीन से बाहर जाने दे, क्योंकि उनके अंदर रहने से सुशांत सिंह मामले की जांच प्रभावित हो रही है.

आपको बता दें कि इससे पहले बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी बयान देते हुए BMC के इस एक्शन की निंदा की थी. जब नीतीश से पटना सिटी एसपी के क्वारनटीन होने पर सवाल किया गया तो सीएम ने कहा कि जो उनके साथ किया गया, वह ठीक नहीं है. पुलिसवाले अपना काम कर रहे हैं, ऐसे बाधा नहीं डालनी चाहिए.

दरअसल, मुंबई में बिहार पुलिस की टीम पहले से ही मौजूद है लेकिन विनय तिवारी टीम की अगुवाई करने पहुंचे थे. जब वो मुंबई एयरपोर्ट पर पहुंचे तो BMC के अधिकारियों ने उन्हें होम क्वारनटीन में रहने को कहा. बीएमसी ने तर्क दिया है क्योंकि अधिकारी को सात दिन से अधिक तक मुंबई में रहना है, इसलिए क्वारनटीन जरूरी है. वहीं बिहार पुलिस की ओर से कहा गया है कि वो अपनी ड्यूटी करने आए हैं.

इस मामले पर जब मुंबई पुलिस के कमिश्नर परमबीर सिंह से सवाल हुआ तो उन्होंने कहा कि इसमें पुलिस का कोई हाथ नहीं है, बीएमसी ने एक्शन लिया है वही कोई जवाब दे सकते हैं.

गौरतलब है कि इससे पहले भी मुंबई और बिहार पुलिस में इस केस को लेकर अनबन हो चुकी है. मुंबई पुलिस का कहना है कि बिहार पुलिस का इस मामले की जांच में कोई अधिकार नहीं है, ऐसे में वो कानूनी सलाह ले रहे हैं.

ADVERTISEMENT