बंगाल में हुई किशोरी की मौत का कारण जहर, शरीर पर चोट का कोई निशान नहीं: पोस्ट मार्टम रिपोर्ट


कोलकाता: उत्तर बंगाल में जिस किशोरी की मौत पर बड़े स्तर पर हिंसा हुई, उसकी पोस्ट मार्टम रिपोर्ट के मुताबिक उसकी मौत कारण जहर था और शरीर के बाहरी हिस्से पर चोट का कोई निशान नहीं मिला। किशोरी के बलात्कार और हत्या का शक होने पर उत्तरी दिनाजपुर जिले में रविवार को भीड़ ने हंगामा खड़ा किया और सिलीगुड़ी के पास चोपरा इलाके में राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 31 पर पुलिस के कई वाहनों और सरकारी बसों को आग लगा दी गई। पोस्ट मार्टम रिपोर्ट के अनुसार, “शरीर के बाहरी हिस्से पर चोट का कोई निशान नहीं मिला है। जहर का प्रभाव है। हालांकि, रासायनिक परीक्षकों की रिपोर्ट आने तक अंतिम राय नहीं दी जा सकती।” सोनपुर गांव में रविवार की सुबह जब किशोरी शौच के लिए घर से बाहर निकली थी तब कथित तौर पर उसका अपहरण कर लिया गया था। कुछ घंटों बाद उसका शव मिला था और गांववालों का आरोप था कि बलात्कार के बाद किशोरी की हत्या की गई थी। पुलिस ने कहा कि अब तक उन्होंने हिंसा में शामिल 16 लोगों को गिरफ्तार किया है।

ADVERTISEMENT