बंगाल की पवित्र मिट्टी और जल राममंदिर ‘भूमि पूजन’ के लिए अयोध्या भेजा जाएगा: विहिप नेता


कोलकाता: पश्चिम बंगाल के पांच मंदिरों की पवित्र मिट्टी और संगम (गंगा का अन्य नदियों के साथ संगम) का पवित्र जल पांच अगस्त को राममंदिर के भूमि पूजन के लिए अयोध्या भेजा जाएगा। विश्व हिंदू परिषद (विहिप) के एक वरिष्ठ नेता ने यहां यह जानकारी दी। पांच अगस्त के अनुष्ठान के साथ ही राम मंदिर के निर्माण का कार्य प्रारंभ हो जाएगा। पिछले साल नवंबर में उच्चतम न्यायालय ने उत्तर प्रदेश के अयोध्या मे दशकों पुराने विवाद का निस्तारण कर दिया था। विहिप नेता एवं संगठन के बंगाल मीडिया प्रभारी सौरीश मुखर्जी ने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘‘कालीघाट, दक्षिणेश्वर, गंगासागर और कूचबिहार के मदन मोहन जैसे मंदिरों की पवित्र मिट्टी के साथ ही गंगाासागर, भागीरथि, त्रिवेणी नदियों के संगम से पावन जल अयोध्या भेजा जाएगा। इसका उपयोग राममंदिर के भूमि पूजन अनुष्ठान के दौरान किया जाएगा।’’ उन्होंने कहा कि कोविड-19 महामारी के चलते पश्चिम बंगाल के विहिप नेता अयोध्या में भूमि पूजन अनुष्ठान में शामिल नहीं हो पायेंगे। उन्होंने कहा, ‘‘ हम टीवी पर उसे देखेंगे और ऐसा इंतजाम करेंगे ताकि राज्य के चप्पे-चप्पे पर उसे सोशल मीडिया पर देखा जा सके।’’

ADVERTISEMENT