दिल्‍ली पहुंचा महागठबंधन का विवाद, घटक दलों के साथ सोनिया की अहम बैठक आज


Bihar Assembly Election: हिंदुस्‍तानी अवाम मोर्चा (HAM) सुप्रीमो जीतनराम मांझी (Jitan Ram Manjhi) द्वारा महागठबंधन (Mahagathbandhan) में समन्वय समिति (Coordination Committee) की मांग से उठा विवाद पटना से निकल कर दिल्ली तक पहुंच गया है। अब इसे दूर करने का सारा दारोमदार कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष (Congress President) सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) पर है। सोनिया गांधी ने बुधवार को महागठबंधन (Grand Alliance) के सभी घटक दलों की वर्चुअल बैठक (Virtual Meeting) बुलाई है।

समन्‍वय समिति की मांग पर अड़े मांझी

हिंदुस्‍तानी आवाम मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जीतन राम मांझी लंबे समय से महागठबंधन में समन्वय समिति का मुद्दा उठाते रहे हैं। हाल ही में उन्होंने सहयोगी राष्‍ट्रीय जनता दल (RJD) पर मनमानी का आरोप लगाते हुए अल्टीमेटम दिया था कि यदि 25 जून तक महागठबंधन में समन्वय समिति नहीं बनती है तो वे फैसला लेने के लिए स्वतंत्र होंगे। इस बीच इस बात की चर्चा भी जोर पर थी कि मांझी अपनी पार्टी का विलय जनता दल यूनाइटेड (JDU) में करने की तैयारी कर रहे हैं।

अहमद पटेल को बताए राजनीतिक हालात

विवाद और चर्चा के बीच मंगलवार की सुबह जीतन राम मांझी सोनिया गांधी से मिलने दिल्ली जा पहुंचे। पार्टी सूत्रों ने बताया कि मांझी की मुलाकात मंगलवार को सोनिया गांधी से नहीं हो पाई। उनकी मुलाकात कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल (Ahmad Patel) से हुई। सूत्रों की माने तो मांझी ने पटेल को प्रदेश के राजनीतिक हालात से अवगत कराया। साथ ही आरजेडी की मनमानी की शिकायत भी की।

अब महागठबंधन की बैठक करेंगीं सोनिया

करीब आधे घंटे की मुलाकात के बाद यह तय हुआ है कि सोनिया गांधी की अध्यक्षता में बुधवार को महागठबंधन के सभी सहयोगियों की बैठक होगी, जिसमें सभी मसलों पर बात होगी। इसकी पुष्टि 'हम' के राष्ट्रीय प्रवक्ता दानिश रिजवान ने की। उन्होंने बताया कि  बुधवार को सोनिया गांधी की अध्यक्षता में बैठक में तय होगा कि सहयोगियों को आगे क्या और कैसे करना है।

ADVERTISEMENT