एक ही परिवार के तीन बुजुर्गों की मृत्यु से इलाके में दहशत


कोलकाता : बड़ाबाजार में टैगोर केसल में एक संयुक्त परिवार को कोरोना के कहर ने तोड़ कर रख दिया है। पिछले 8 दिनों में 20 सदस्यों वाले इस संयुक्त परिवार के तीन लोगों की मृत्यु हो चुकी है, जबकि 17 लोग क्वारंटीन हैं।मृत तीनों लोग भाई थे। इस हृदय विदारक घटना के बाद पूरे बड़ाबाजार, विशेष कर जोड़ाबागान अंचल में चिन्ता व्याप्त है। इलाके में वृहद स्तर पर जीवाणुमुक्त करने का काम किया जा चुका है।प्राप्त जानकारी के अनुसार, सबसे पहले परिवार ेक 65 वर्षीय सदस्य को खांसी-बुखार की शिकायत हुई। उन्हें बेलियाघाटा आईडी अस्पताल में भर्ती कराया गया। साथ ही उनके 69 वर्षीय बड़े भाई को भी बुखार ने जकड़ लिया। उन्हें एमआर बांगुड़ अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा।

दोनों का कोविड-19 टेस्ट किया गया, लेकिन रिपोर्ट निगेटिव बताई गयी। लेकिन इसी बीच अस्पताल में भर्ती 65 वर्षीय भाई की 19 अप्रैल को मृत्यु हो गयी। चार दिन बाद यानी 23 अप्रैल को बड़े भाई भी चल बसे। रिपोर्ट में कोरोना नहीं पाए जाने के कारण दोनों के शव परिवार वालों को दे दिए गए, जिनका अंतिम संस्कार परिवार वालों ने किया।

इस बीच परिवार के एक औऱ 57 वर्षीय सदस्य की तबीयत खराब होने पर उन्हें भी अस्पताल पहुंचाना पड़ा, लेकिन सूत्रों के अनुसार, अस्पताल में दाखिल किए जाने के पूर्व ही इनकी भी मृत्यु हो गयी।

स्थानीय वार्ड-24 की पार्षद इलोरा साहा ने इलाके में सेनेटाइजेशन का काम करवाया है, लेकिन इस परिवार के पड़ोसी तथा स्थानीय लोगों में भय व्याप्त है। टैगोर कैसल में छोटे-छोटे कमरों में पुरानी परम्परा के अनुसार, काफी संख्या में परिवार बसे हुए हैं। अपने आप में यह एक छोटे नगर जैसा माना जाता रहा है।