पश्चिम बंगाल में निजी बस संचालकों ने की किराया दोगुना करने की मांग


बंगाल में निजी बस संचालकों ने कोविड-19 से मुक्त राज्य के सात जिलों में बस चलाने के लिए किराया दोगुना करने और सब्सिडी दिए जाने की की मांग की है। बस मालिकों के संघ ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। बस सिंडिकेट संयुक्त परिषद के महासचिव तपन बनर्जी ने कहा कि बसों में बीस यात्रियों को ले जाने पर ईंधन का खर्च भी नहीं निकलेगा। राज्य सरकार ने सामाजिक नियमों का पालन कराने के वास्ते एक बस में बीस यात्रियों को ले जाने का निर्देश दिया था। राज्य परिवहन विभाग और ग्रीन जोन वाले सात जिलों के बस मालिकों के संघों के प्रतिनिधियों के बीच बृहस्पतिवार को हुई बैठकों में इस मामले को उठाया गया था।

बनर्जी ने कहा कि बसों के मालिक अपनी बसें चलाना चाहते हैं लेकिन राज्य सरकार को उनके नुकसान की भरपाई करनी होगी। उन्होंने कहा कि किराया दोगुना करने के बाद भी बस चलाने का आधा खर्च तक नहीं निकलेगा क्योंकि प्रत्येक वाहन में 45 से 55 यात्रियों के लिए सीटें होती हैं और बस औसतन 65 से 70 यात्रियों को लेकर चलती है। उन्होंने कहा, “इसलिए हमने सरकार से कहा है कि नुकसान की भरपाई के लिए सब्सिडी दी जाए।”


ADVERTISEMENT