कोरोना महामारी पर विपक्षी दलों की बैठक में शामिल होंगी पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी


कोलकाता : पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने COVID-19 की स्थिति और लॉकडाउन के प्रभाव पर चर्चा के लिए कांग्रेस की ओर से बुलाई गई विपक्षी पार्टियों की बैठक में शामिल होने की मंगलवार को पुष्टि की। प्रवासी श्रमिकों की दुर्दशा और श्रम कानूनों में बदलाव पर चर्चा के लिए कांग्रेस ने शुक्रवार को समान विचारधारा वाले दलों की बैठक बुलाई है। ममता बनर्जी ने संवाददाताओं से बातचीत में शुक्रवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से होने वाली विपक्षी दलों की बैठक में शामिल होने की बात कही।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि कोरोना महामारी की स्थिति और लॉकडाउन प्रभाव पर चर्चा के लिए शुक्रवार शाम को वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से विपक्षी दलों की एक बैठक होगी। मैं उसमें रहूंगी। अनेक विपक्षी दल शासित राज्यों ने प्रवासियों के मुद्दे से निपटने के तरीके पर केंद्र की आलोचना की है। गत 25 मार्च को कोरोना वायरस के कारण शुरू हुए लॉकडाउन की वजह से देशभर में बेरोजगार हुए हजारों प्रवासी मजदूर पैदल, साइकल पर या ट्रकों में खचाखच भर कर अपने घरों की लंबी और कठिन यात्रा कर रहे हैं।देश के कई हिस्सों में सड़क हादसों में प्रवासी मजदूरों के मारे जाने की दुखद खबरें आई हैं।

राज्यों को जिम्मेदार ठहराने की कोशिश कर रही केंद्र सरकार
तृणमूल कांग्रेस के एक नेता ने कहा कि केंद्र सरकार जिस तरह हर चीज के लिए राज्यों को जिम्मेदार ठहराने की कोशिश कर रही है, वह नामंजूर है। केंद्र द्वारा अचानक लॉकडाउन लगाने की वजह से देश में प्रवासियों के लिए संकट की स्थिति पैदा हो गयी। उन्होंने कहा कि समान विचार वाले विपक्षी दल शुक्रवार को तीन बजे वीडियो कॉन्फ्रेंस से बैठक करेंगे और संकट से बेहतर तरीके से निपटने के लिए उठाये जा सकने वाले अगले कदम पर चर्चा करेंगे।

ADVRETISEMENT