हवाई सफर पर मोदी सरकार ने बनाया प्लान, 6 नए एयरपोर्ट की होगी नीलामी


कोरोना काल में 20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज को लेकर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण शनिवार को एक बार फिर मीडिया से मुखातिब हुईं. इस दौरान उन्‍होंने एविएशन सेक्‍टर के लिए मुख्‍यतौर पर तीन बड़े ऐलान किए.

निर्मला सीतारमण ने बताया कि सार्वजनिक निजी भागीदारी (पीपीपी) के माध्‍यम से 6 नए एयरपोर्ट की नीलामी होगी. इसके साथ ही हवाई सफर को सुगम बनाने के लिए कुछ जरूरी कदम उठाए जाएंगे. सरकार के इस फैसले से समय के साथ ईंधन की भी बचत होगी.

-वित्त मंत्री ने कहा कि कुशल हवाई क्षेत्र प्रबंधन के लिए भारतीय एयर स्पेस के उपयोग को आसान बनाया जाएगा. इससे हवाई सफर में कई राहत मिलेगी. मसलन, समय और फ्यूल की बचत होगी. अहम बात ये है कि सिर्फ दो महीने के अंदर यह काम किया जाएगा. इससे करीब 1,000 करोड़ का फायदा होगा.

- वित्त मंत्री ने कहा कि सार्वजनिक निजी भागीदारी (पीपीपी) के माध्‍यम से 6 और एयरपोर्ट्स की नीलामी होगी. ये काम एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया करेगी. इस तरह कुल 12 एयरपोर्ट की नीलामी पूरी होगी. कुल 12 एयरपोर्ट में 13 हजार करोड़ का निवेश आएगा. बता दें कि 6 एयरपोर्ट की नीलामी प्रक्रिया पहले से जारी है. वित्त मंत्री ने कहा कि नए फैसले से देश के नागरिकों को विश्‍वस्‍तरीय एयरपोर्ट की सुविधाएं मिल सकेंगी. यही नहीं, तीसरे चरण के लिए 6 एयरपोर्ट नीलामी की तैयारी चल रही है.

-वित्त मंत्री के मुताबिक विमान रखरखाव, मरम्मत इत्यादि यानी एमआरओ के लिए भारत एक वैश्विक केंद्र बनने की ओर है. विमानों की एमआरओ सुविधा देश में ही डेवलप होगी. इससे एयरलाइन की मेंटेनेंस कॉस्‍ट में बड़ी गिरावट आएगी. उन्होंने कहा कि विमानन कल-पुर्जों की मरम्मत और एयरफ्रेम रख-रखाव क्षेत्र के तीन साल में 800 करोड़ रुपये से बढ़कर 2,000 करोड़ रुपये हो जाने की उम्मीद है.


ADVERTISEMENT