देश में कोरोना ने तोड़े सारे रिकॉर्ड : बीते 24 घंटे में सबसे ज्यादा 2644 नए मरीज मिले, 83 लोगों ने गंवाई जान


नई दिल्ली : Coronavirus Cases in India: भारत में कोरोनावायरस (Coronavirus) का कहर लगातार बढ़ता जा रहा है. देश में Covid-19 संक्रमित मरीजों का कुल आंकड़ा बढ़कर 39,980 पर पहुंच गया है जबकि अब तक 1301 लोगों की जान गई है. स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry) ने रविवार को यह जानकारी दी. आंकड़ों के मुताबिक, देश में कोरोनावायरस से अब तक 1301 लोगों की मौत हो चुकी है. कोरोना ने अब तक के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं. पिछले 24 घंटों में कोरोना से 83 लोगों की मौत हुई है जबकि 2644 नए मामले सामने आए हैं. हालांकि, थोड़ी राहत वाली बात यह है कि इस बीमारी से अब तक 10633 मरीज ठीक को चुके हैं. बता दें कि कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए देशभर में लॉकडाउन (Lockdown) लगाया गया. लॉकडाउन के मौजूदा चरण को बढ़ाकर 17 मई कर दिया गया है. 

कोरोना योद्धाओं का सम्मान 
देश में सबसे बड़े दुश्मन कोरोनावायरस (Coronavirus) के खिलाफ लड़ रहे कोरोना योद्धाओं (Corona Warriors) को आज (रविवार) भारतीय सेनाओं ने खास अंदाज में शुक्रिया अदा किया. इन योद्धाओं में डॉक्टर, नर्स, पुलिस, डिलीवरी कर्मी, स्वच्छता कर्मी, बैंक कर्मचारी, सरकारी कर्मचारी और मीडिया कर्मी शामिल हैं. यह दिन बड़ा अद्भुत दिन है, जब सेना कोरोना योद्धाओं का हौसला बढ़ा रही हैं.  यह वो लोग हैं, जो अपनी जान पर खेलकर कोरोना पीड़ितों की सेवा में लगे हुए हैं. सेना ने आज के दिन को 'कोरोना वॉरियर्स डे' का नाम दिया है.

गुजरात में कोरोना के मरीज 5,000 के पार
गुजरात में 333 और व्यक्तियों के कोविड-19 से संक्रमित होने के साथ ही राज्य में इसके मामले बढ़कर 5 हजार के पार हो गए जबकि 26 और मौतें होने से मृतक संख्या बढ़कर 262 हो गई. अकेले अहमदाबाद में 20 मौतें हुईं जो कि एक दिन में होने वाली सबसे अधिक मौतें हैं. यह जानकारी गुजरात के एक स्वास्थ्य अधिकारी ने दी. राज्य में कोविड-19 के कुल मामले 5054 हैं जिसमें अहमदबाद में सामने आये 250 नये मामले शामिल हैं. 

नाराज प्रवासी मजदूरों ने किया पथराव
गुजरात के सूरत से उत्तर प्रदेश जा रही प्रवासी मजदूरों की बसों को प्रशासनिक कारणों से शनिवार को गुजरात सीमा पर आगे जाने से रोक दिया गया जिससे भड़के प्रवासी मजदूरों ने गुजरात पुलिस पर पथराव किया. अधिकारियों ने यह जानकारी दी.  एक अधिकारी ने कहा कि बसों को वड़ोदरा में वाघोडिया के पास हलोल चेक पोस्ट पर रोका गया क्योंकि उनके पास आगे जाने की अनुमति नहीं थी. इससे उत्तेजित मजदूर पुलिस से भिड़ गए और पथराव करने लगे.