Lockdown Extension: ओड़िशा की तरह बंगाल में भी लॉकडाउन बढ़ना तय, मुख्‍यमंत्री ममता ने दिए संकेत


बंगाल में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के अनुसार कोरोना संक्रमित रोगियों की संख्या 63 हो गई है। हालांकि, तीन लोग स्वस्थ्य हो गए हैं जिन्हें जल्द ही अस्पताल से छुट्टी मिल जाएगी। परंतु, गुरुवार को संवाददाता सम्मेलन में ममता ने संकेत दिए कि 14 अप्रैल को लॉकडाउन खत्म करना संभव नहीं है।

ऐसे में वह भी ओड़िशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक की राह पर चलते हुए बंगाल में लॉकडाउन की समय सीमा बढ़ा सकती है। सुश्री बनर्जी ने कहा कि 11 अप्रैल को पीएम नरेंद्र मोदी के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए बैठक होनी है इसके बाद लॉकडाउन पर अंतिम निर्णय लिया जाएगा। परंतु, उन्होंने संकेत दिया कि लॉकडाउन बढ़ना लगभग तय है। माना जा रहा है कि राज्य में जिस तरह से कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ रही है वह चिंताजनक है। राज्य सरकार के आंकडो़ं के मुताबिक बंगाल में अब तक कोरोना से पांच लोगों की मौत हो चुकी है। इस स्थिति में लॉकडाउन को खत्म करना संभव नहीं है। इसीलिए उन्होंने कहा कि वह 1 1  अप्रैल को विस्ततृत चर्चा करने के बाद लॉकडाउन पर फैसला लेंगी।

नवीन पटनायक ने गुरुवार को ही लॉकडाउन की अवधि 30  अप्रैल तक बढ़ाने का एलान कर दिया है। देश में कोरोना संक्रमण की संख्या छह हजार के करीब पहुंच चुकी है। मरने वालों की संख्या भी पौन दो सौ के पार जा चुकी है। इस स्थिति में लॉकडाउन समाप्त होने पर स्थिति और गंभीर हो सकती है। वहीं ममता ने गुरुवार को राज्य के व्यवसायी, उद्योगपितयों, वाणिज्यिक संगठनों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक की। 

इस बैठक में सुश्री बनर्जी ने उद्योग और व्यापार जगत के प्रतिनिधियों के साथ चर्चा के दौरान कहा कि 11 अप्रैल को एक बैठक है। मुझे भी आमंत्रित किया गया है। मैं देखूंगी कि चर्चा में क्या-क्या बातें सामने आती है। बैठक में हम अपनी राय देंगे। इससे पहले बुधवार को ममता ने कहा था कि उन्हें केंद्र से आधिकारिक तौर पर पीएम मोदी के मुख्यमंत्रियों के साथ निर्धारित वीडियो सम्मेलन के बारे में कुछ भी जानकारी नहीं मिली। परंतु, आज उन्हों ने खुद ही कहा कि बैठक में भाग लेंगी।