तमिलनाडु में 110 नए कोरोना मरीज, मरकज के कार्यक्रम से जुड़े थे सभी संक्रमित


दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित तबलीगी जमात के मरकज से लौटे लोगों का लगातार कोरोना से संक्रमित पाए जाना जारी है. मरकज से तमिलनाडु लौटे 110 लोग संक्रमित पाए गए हैं. इसके साथ ही तमिलनाडु में कोरोना के मरीजों की संख्या 234 हो गई है. इससे पहले मरकज से लौटे 93 लोगों के कोरोना वायरस की चपेट में आने का मामला सामने आया था. सभी का सैंपल पॉजिटिव निकला है. इसमें से 45 तमिलनाडु, 9 अंडमान और 24 केस दिल्ली के हैं.

इसके अलावा आंध्र प्रदेश से 4 और केस सामने आए, जिनकी ट्रैवल हिस्ट्री मरकज की रही है. विशाखापट्टनम से भी 21 केस सामने आए हैं.उधर, मरकज को भी पूरी तरह अब खाली करा दिया गया है. मरकज से 2 हजार से ज्यादा लोग निकाले गए हैं. मरकज से जिन लोगों को निकाला गया है, उसमें से 617 अस्पताल में भर्ती हैं, बाकी क्वारंटीन किए गए हैं. जमात से लौटे लोगों की तलाश में दिल्ली से मुंबई तक अभियान चलाया जा रहा है.

आंध्र प्रदेश में मरकज जमात से जुड़े 30 जमातियों का टेस्ट किया गया, जिसमें से 14 पॉजिटिव पाए गए हैं. मरकज में गए 13 बांग्लादेशियों को ठाणे में पकड़ा गया है. सबको क्वारंटीन किया गया है. वहीं, अहमदाबाद में जमात के मरकज से लौटे लोगों की तलाश की गई. इस बीच गोमतीपुर इलाके में पुलिस पर पथराव किया गया. बताया जा रहा है कि कसाई नी चाल इलाके में लोग विरोध करने लगे और पुलिस पर पथराव शुरू हो गया.

उत्तर प्रदेश में 117 लोग क्वारनटीन

मरकज से लौटे लोगों की तलाश के लिए पुलिस ने सर्च ऑपरेशन चलाया. मऊ में 15 लोग पकड़े गए . यह लोग जमात में शामिल होकर मऊ में अलग-अलग जगह ठहरे हुए थे. साथ ही सबको क्वारनटीन किया गया है. उत्तर प्रदेश में अब तक 8 जमातों में 117 लोगों को क्वारनटीन किया जा चुका है. साथ ही इनके संपर्क में आए लोगों को भी क्वारनटीन किया जा रहा है.