प्लाज्मा डोनेट करने के लिए फिट हैं कनिका कपूर, करेंगी कोरोना पीड़ितों की मदद


कोरोना जैसी महामारी से जंग जीतने के बाद कनिका कपूर ने पिछले दिनों प्लाज्मा डोनेट करने का फैसला किया था. लेकिन इसके लिए डॉक्टर्स को ये भी देखना था कि कनिका प्लाज्मा दे सकती हैं या नहीं. अब लखनऊ स्थित केजीएमयू में हुई जांच में कनिका का एंटीजन टेस्ट निगेटिव और ब्लड सैंपल भी मानकों पर खरा उतरा है.

इसका मतलब ये है कि कनिका कपूर प्लाज्मा डोनेशन के लिए पूरी तरह फिट पाई गई हैं. अब डॉक्टर्स जरूरत के हिसाब से कभी भी कनिका का प्लाज्मा ले सकते हैं. प्लाज्मा देने के लिए कनिका को अस्पताल जाना होगा. बता दें, डॉक्टरों का मानना है कि कोरोना सर्वाइवर्स के ब्लड से प्लाज्मा निकालकर अगर कोरोना मरीजों को दिया जाये तो वो ठीक होने में मदद करता है. प्लाज्मा डोनेट करने के लिए कई कोरोना सर्वाइवर्स सामने आ रहे हैं. हालांकि स्वास्थ्य मंत्रालय ने प्लाज्मा थेरेपी को अभी एक्सपेरिमेंटल बताया है.

कोरोना से ठीक होने के बाद कनिका ने दी थी सफाई

कोरोना से जंग जीतने के बाद कनिका इन दिनों लखनऊ में अपने परिवार संग समय बिता रही हैं. क्योंकि कनिका पर लापरवाही के तमाम आरोप लगे थे इसलिए कनिका कपूर ने ठीक होने के बाद सोशल मीडिया पर सफाई दी थी. अपने बचाव में कनिका ने कहा था- ''मैं यूके से लेकर मुंबई और लखनऊ तक जिन भी लोगों से मिली थी, उन में कोरोना के कोई लक्षण नहीं थे. वो सब कोरोना नेगेटिव भी पाए गए थे. मैं 10 मार्च को यूके से मुंबई आई थी.''''तब इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर उनकी स्क्रीनिंग की गई थी. उस समय ऐसी कोई एडवाइजरी नहीं थी कि उन्हें अपने आप को क्वारनटीन करना है. 11 मार्च को मैं अपने माता-पिता से मिलने लखनऊ आई थी. उस समय एयरपोर्ट पर किसी भी तरह की स्क्रीनिंग नहीं की गई थी. मैंने 14 और 15 मार्च को अपने दोस्त के साथ एक लंच भी अटेंड किया था. 17 और 18 मार्च को मुझे कुछ लक्षण महसूस हुए जिसके बाद 19 मार्च को मैंने टेस्ट करवाया और कोरोना पॉजिटिव होने की बात सामने आई.''